XML full form in Hindi – XML language किस काम आती है?

XML full form – Extensible Markup Language

किसी भी वेबसाइट को डिजाइन, मेंटेन करने के लिए HTML जानना बेहद जरूरी है। यह एक बेहद पापुलर लैंग्वेज है। यह डाटा को टैग करने की भी सुविधा देती है। इसमें करीब सौ से भी ज्यादा टैग्स हैं। लेकिन इन सभी को याद रखना और इनका इस्तेमाल करना बेहद मुश्किल है। कई बार एचटीएमल में आपके दस्तावेज में ओरिजिनल कंटेंट से भी ज्यादा टैग हो जाते हैं। इसी मुश्किल को XML हल करती है।

यानी कि यह HTML की लिमिटेशंस की दिक्कत को दूर करती है। अक्सर बड़ी वेबसाइट्स को मेंटेन करने के लिए XML का इस्तेमाल किया जाता है। क्या आप जानते हैं कि XML full form क्या है? और इसका इस्तेमाल क्या है? हम आपको बताएंगे-

XML full form in Hindi

XML की फुल फॉर्म – Extensible Markup Language

XML in Hindi – एक्सटेंजिबल मार्कअप लैंग्वेज।

XML language क्या है?

यह HTML की सीमाओं को विस्तार देती है। इस मार्क अप लैंग्वेज को वर्ल्ड वाइड वेब कंजोर्टियम यानी डब्‍ल्यू3सी ने डेवलप किया था। यह डाटा को स्टोर और आर्गेनाइज करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। HTML का प्रेजेंटेशन दरअसल कई बार ब्रोजर के मुताबिक बदल जाता है।

कई बार ओरिजिनल कंटेंट से अधिक टैग हो जाते हैं। इन प्राब्लम को XML दूर करती है। इन दोनों को कंबाइन करके इस्तेमाल किया जाता है। XML और HTML के कंबाइंड वर्जन को X-HTML पुकार जाता है।.

दरअसल, जब आप किसी एप्लिकेशन के जरिये डाटा को स्टोर करते हैं तो उसे एक्सेस करने के लिए आपको वही एप्लिकेशन यूज करनी पड़ती है, लेकिन XML के साथ ऐसा नही है। इसके इस्तेमाल से आप डाटा कभी भी एक्सेस कर सकते हैं।

ये भी जाने

XML कैसे दूसरी languages से अलग है?

XML एक पावर फुल और दूसरी लैंग्वेजेज से अलग लैंग्वेज है। यह कांप्लेक्स स्ट्रक्चर के डाटा को हैंडल करने में सक्षम है। XML के जरिये डाटा का ब्योरा टेक्‍स्ट फार्मेट में दिया जाना संभव है। इसका फार्मेट मानव भी पढ़ सकता है और कंप्यूटर भी। यह डाटा को ट्री स्ट्रक्चर में हैंडल करती है, जिसकी प्रोसेसिंग बहुत फास्ट है।

इसके साथ ही डाटा को लंबे समय तक स्टोर करने और दोबारा इस्तेमाल करने के लिए यह एक बेहतरीन टेक्‍नोलाजी है।

XML language के इस्तेमाल क्या क्या है?

XML के कई इस्तेमाल हैं। बड़ी वेबसाइट्स को मेंटेन करने के साथ ही सूचना के आदान-प्रदान में इसका इस्‍तेमाल है। डाटा बेस को लोड और अनलोड करने में यह काम आती है। इसे स्टाइल शीट के साथ मर्ज करने में उपयोग किया जा सकता है। किसी भी तरह का डाटा XML दस्तावेज यानी डाक्यूमेंट के रूप में संभाला जा सकता है।

HTML का इस्तेमाल डाटा को डिस्‍प्ले करने में होता है तो वहीं XML को डाटा को कैरी करने के लिए डिजाइन किया गया है। HTML के टैग्स जहां प्री डिफाइंड होते हैं, वहां XML के साथ ऐसा नहीं। लेकिन आपको यह भी बता दें कि XML किसी भी तरह से HTML का स्‍थानापन्न नहीं है। बल्कि दोनों के कांबिनेशन का ही इस्तेमाल होता है.

XML पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना की XML क्या है, XML language के फायदे और XML full Form in Hindi के बारे में।

Leave a Reply

error: