VISA full form in Hindi – VISA क्यों ज़रूरी है?

VISA Full Form – The Document having been seen

दोस्तों आप सभी VISA से तो जरूर ही परिचित होंगे। VISA के बारे में हम सभी इतना तो जरूर ही जानते हैं कि जब हमें अपने देश से किसी दूसरे देश मे जाना होता है तो हमें VISA की आवश्यकता होती है।

लेकिन अगर बात की जाए VISA के हिन्दी मे अर्थ की, यानी कि VISA को हिन्दी में क्या कहते हैं तो बहुत कम लोगो को ही VISA full form पता होगी।

इसलिए आज के इस Article में हम आपको ना सिर्फ़ VISA के हिन्दी अर्थ को समझाने वाले हैं बल्कि इससे जुड़ी अन्य सभी important बाते भी बताने वाले हैं।

जानते हैं कि VISA को हिन्दी मे क्या कहा जाता है

VISA full form in Hindi

VISA Meaning in Hindi – The Document having been seen’

VISA एक Latin शब्द है जिसको हिन्दी में ‘प्रवेश पत्र’ कहा जा सकता है। VISA एक Latin भाषा का शब्द है जिसको English में ‘The Document Having been Seen’ कहा जाता है। वहीं इसको अगर हिन्दी मे Translate करें तो इसका अर्थ होगा- ‘वह कागज़ जी देखा जा चुका हो’.

जब भी हमें अपने देश से बाहर किसी अन्य देश मे जाना होता है तो हमें वहाँ के VISA के लिए Apply करना पड़ता है। इस VISA के Issue होने के बाद ही हम उस देश मे प्रवेश कर सकते हैं।

VISA हमें उसी देश की Government द्वारा दिया जाता है जिस देश मे हमे जाना होता है।

यहाँ पर हम आपको ये भी बता दें कि किसी भी दूसरे देश मे जाने के लिए आपके पास Passport के साथ ही VISA का होना जरूरी है।
VISA दूसरा सबसे महत्वपूर्ण Document माना जाता है जिसकी Requirement आपको विदेश जाने के लिए पड़ती है। हालाँकि दूसरे देश मे

जाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण Document पासपोर्ट को माना गया है।
दोस्तों हमनें VISA के हिन्दी अर्थ को तो जान लिया अब आइये इसी क्रम में हम VISA की History के बारे में भी थोड़ा जान लेते हैं।

History of VISA –

पहले के समय में लोगो को किसी एक देश से दूसरे देश मे जाने के लिए किसी तरह के VISA, Passport आदि Document की जरूरत नहीं पड़ती थी।

VISA तथा Passport की शुरुआत सबसे पहले यूरोपीय देशों द्वारा प्रथम विश्वयुद्ध के बाद शुरू किया गया। प्रथम विश्वयुद्ध के समय लाखों की संख्या में लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर यात्रा कर रहे थे तो उस समय इन सभी लोगो का Record रखने के लिए VISA और Passport की जरूरत महसूस हुई।

VISA कैसे बनवाएं?

किसी भी देश का VISA प्राप्त करने के लिए आपको उस देश की Embassy में जाना पड़ता है। यहाँ पर आपको बता दे कि Embassy एक ऐसा Office होता है जो कि किसी दूसरे देश मे हमारे देश के प्रतिनिधित्व करने वाला एक Office होता है।

जैसे कि भारत की राजधानी नई दिल्ली में दुनिया के लगभग सभी देशों के एक Office मौजूद हैं जहाँ पर उस देश के प्रतिनिधि रहते हैं। अब हमें जिस भी देश मे जाना होता है वहाँ के Office में यानी कि उस देश की Embassy में जा कर उस देश के VISA के लिए Apply करना पड़ता है।

VISA के लिए Apply करते समय हमें कुछ Important Documents भी उस Embassy में दिखाने पड़ते हैं। आइये जानते हैं कि VISA के लिए किस तरह के Document की हमें जरूरत पड़ती है-

  1. आपके पास Passport होना जरूरी है। जिसकी Validity कम से कम 6 Month हो।
  2. एक Passport Size की Photograph, जिसमें आपका Face साफ दिखायी पड़े।
  3. आपका निवास प्रमाण पत्र या फ़िर कोई National Identity Card जैसे कि Voter Card, Aadhar Card आदि।

VISA के लिए interview

जब आप किसी देश के VISA के लिए Apply करते है तो उसके बाद आपको उस देश की Embassy Office में VISA Interview के लिए बुलाया जाता है। इस VISA Interview में आपके सभी Document की जाँच करने के साथ ही आपसे कुछ सवाल भी पूछे जाते हैं। जैसे कि आप इस देश मे क्यों जाना चाहते हैं आप इस देश मे कितने दिनों तक रहेंगे.

यहाँ पर आपको ये भी बता दें कि अलग-अलग देश का VISA Rule अलग-अलग है। ऐसे में आपको किसी भी देश का VISA प्राप्त करने के लिए वहाँ के Rule के According ही चलना होगा, तभी आप वहाँ का VISA हासिल कर सकते हैं।

Indian नागरिक को किस देश के visa की ज़रूरत नहीं है?

वैसे तो भारत से बाहर किसी भी देश मे जाने के लिए आपको VISA की आवश्यकता होती है। हालाँकि कुछ देश ऐसे भी है जहाँ पर भारतीय नागरिकों की जाने के लिए किसी भी तरह के VISA की आवश्यकता नहीं होती है। इसी क्रम में आइये उन देशों के नाम जानते हैं जहाँ भारत से जाने के लिए आपको किसी तरह के VISA की आवश्यकता नहीं पड़ती है। आप इन देशों में सिर्फ़ Passport ले के जा सकते हैं।

  • Nepal (नेपाल)
  • Bhutan (भुटान)
  • Myanmar (म्यांमार वर्मा)
  • Hong Kong (हॉन्ग कॉन्ग)
  • Maldives (मालदीव)
  • Mauritius (मॉरीशस)
  • Jordan (जॉर्डन)
  • Macau (मकाऊ)
  • Jamaica (जमैका)
  • Combodia (कम्बोडिया)
  • Fiji (फ़िजी)

इन सभी देशों में जाने के लिए आपको किसी भी तरह के VISA की आवश्यकता नहीं होती है।

VISA किसने तरह के होते है?

हमनें VISA का हिन्दी मे अर्थ जानने के साथ ही ये भी जान लिया कि आप की तरह से किसी देश का VISA प्राप्त कर सकते हैं। यहाँ पर आपको ये भी बता दे कि VISA भी कई Type का होता है।

इस क्रम में अब आइये ये भी जान लेते हैं कि VISA कितने तरह का होता है.

हर देश के अनुसार VISA को अलग़-अलग़ Type में Devide किया गया है। लेकिन मुख्य रूप स VISA निम्न प्रकार होते हैं जो कि लघभग सभी देशों में चलते हैं।

  1. Tourist VISA – ये VISA तब Issue किया जाता है जब आपको किसी देश मे सिर्फ़ घूमने के Purpose से जाना होता है। इस VISA की अवधि सिर्फ़ कुछ ही दिनों की होती है।
  2. Student VISA – जब हम किसी देश मे पढ़ाई करने के लिए जाते है तब हमें दिया जाने वाला VISA, Student VISA के नाम से जाना जाता है। इस VISA की Validity आपके Course के Duration के अनुसार ही होती है।
  3. Work VISA – जब हम किसी दूसरे देश में Job के लिए जाना पड़ता है तो हमें Work VISA की जरूरत पड़ती है। इस VISA की Validity हमारे Employment Contract के अनुसार ही होती है।
  4. Business VISA – ये VISA हमें किसी दूसरे देश मे जाकर वहाँ पर व्यापार करने की अनुमति देता है। इस VISA को हासिल करने के लिए आपको अपने Business की पूरी Detail उस देश को बतानी पड़ती है। इसके साथ ही आप वहाँ की Policy के अनुसार ही वहाँ ओर Business कर सकते हैं।
  5. Spousal VISA – अगर आपके पति या पत्नी किसी दूसरे देश मे रह रहे हैं तो आप उनसे मिलने जाने के लिए Spousal VISA हासिल कर सकते हैं। इस VISA के होने पर आप उस देश मे 3 साल तक रह सकते हैं। हालाँकि इसको लेकर हर देश के अलग़-अलग Rule भी है।
  6. Transit VISA – दोस्तों Transit VISA सबसे कम Validity वाला VISA होता है, जो कि सिर्फ़ कुछ ही घण्टो या फ़िर 1 दिन के लिए ही Valid होता है। ये VISA आपको तब दिया जाता है जब आपको उस देश मे सिर्फ़ कुछ ही देर के लिए रहना होता है। जैसे कि अगर आपको वहाँ से किसी अन्य ज़गह लिए Flight पकड़नी हो या फ़िर आपको वहाँ पर रुककर किसी का इंतज़ार करना हो। इस स्थिति में आपको उस देश से Transit VISA हासिल करना होता है।

ये भी जाने

VISA पोस्ट पर हमारी राय

VISA एक बेहद Important Document है जो कि आपको किसी भी दूसरे देश मे जाने के लिए वहाँ की Government से हासिल करना होता है। VISA में आपके यात्रा संबधी सारी Detail लिखी होती है, तथा उसमें आपके यात्रा की अवधि भी लिखी होती है। जिसे की VISA की Validity भी कहा जाता है।

इस Validity के समाप्त होने के बाद आप उस देश में एक मिनट भी नहीं रह सकते हैं। अगर आप VISA के Expire होने के बाद भी उस देश मे टिके रहते है तो ये ग़ैरकानूनी माना जाता है, तथा उस देश की Government आपके खिलाफ कानूनी कार्यवाही कर सकती है।

इस पोस्ट में हम ने जाना VISA क्या है, कैसे बनता है, Visa क्यों ज़रूरी है और VISA full Form in Hindi के बारे में।

Leave a Reply

error: