UNO full form – UNO क्या है?

दोस्तों आज के इस Arricle में हम बात करने वाले हैं UNO की।हम आशा करते हैं कि आप सभी ने UNO का नाम जरूर ही सुना होगा। आपमें से बहुत से लोग ऐसे भी होंगे जो UNO के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी भी रखते होंगे। लेकिन अगर बात की जाए UNO के फुल फॉर्म की तथा इससे जुड़ी अन्य बहुत सी महत्वपूर्ण Information की तो बहुत कम लोगों को ही इसके बारे में कुछ पता होगा।

इसीलिए आज के इस Article में हम आपको ना सिर्फ़ UNO Full form फॉर्म बताएंगे बल्कि इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण Information भी आपको देने वाले हैं।

इस क्रम में आइए सबसे पहले जान लेते हैं कि UNO का फुल फॉर्म क्या होता है?

UNO full form in Hindi

UNO का फुलफॉर्म – United Nation Organization

UNO in Hindi – यूनाइटेड नेशन आर्गेनाइजेशन

अगर बात की जाए UNO के हिन्दी मे पूरे नाम की तो इसे हिन्दी भाषा में ‘सयुंक्त राष्ट्र संघ’ के नाम से जाना जाता है। UNO की स्थापना

UNO की शुरुआत

दोस्तों द्वितीय विश्वयुद्ध जोकि सन 1945 में समाप्त हुआ। उस समय संपूर्ण विश्व में काफी अशांति फैली हुई थी। जापान के नागासाकी शहर में परमाणु बम गिराए जाने तथा विश्व के अन्य देशों में भी असीमित हिंसा के कारण काफी लोग मारे गए। दुनिया में इस तरह की अशांति को देखते हुए विश्व युद्ध के विजेता देशों ने मिलकर के एक ऐसे संगठन को बनाने का निर्णय लिया जिससे विश्व में शांति स्थापित की जा सके तथा World War जैसी स्थिति दोबारा ना बन सके।

द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद 24 अप्रैल सन 1945 को विश्व के लगभग 50 देशों के प्रमुखों ने अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में एक बैठक की। इस बैठक में ही संपूर्ण विश्व के सभी देशों को मिलाकर एक संगठन बनाने की पेशकश की गयी तथा इस संगठन को संयुक्त राष्ट्र संघ यानी कि UNO नाम दिया गया। इसके बाद UNO की स्थापना 24 अक्टूबर सन 1945 में की गई।

UNO के संस्थापक देशों में अमेरिका मुख्य रूप से शामिल था हालांकि उस समय इटली तथा इंग्लैंड आदि देशों ने इस संगठन की स्थापना का विरोध भी किया था लेकिन विश्व की शांति के लिए इस संगठन की स्थापना अत्यंत आवश्यक थी इसलिए अमेरिका तथा अन्य 50 देशों ने मिलकर UNO यानी कि संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की।

साल 14 जुलाई 2011 को इस संगठन में South Sudan के शामिल होने के बाद UNO के सदस्य देशों की संख्या 193 हो गयी है। वर्तमान समय में इस में कुल 193 देश है जिसमें भारत भी शामिल है। भारत UNO के संस्थापक देशों के रूप में शामिल था।

ये भी जाने

UNO का Headquarter

UNO का Head Quarter अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में स्थित है। UNO के ऑफिस के लिए Bulding बनाने की शुरुआत 14 सितम्बर 1948 को हुई और ये Building 9 अक्टूबर 1952 में बनकर तैयार हुई।

UNO के काम

नॉर्वे के विदेश मन्त्री Trygve Lie को UNO का पहला Secretry General चुना गया था। UNO का उद्देश्य विश्व में शांति व्यवस्था बनाए रखना तथा परमाणु बम तथा न्यूक्लियर बम आदि जैसे घातक हथियारों के उपयोग पर प्रतिबंध लगाना है। इसके साथ ही सम्पूर्ण विश्व से ग़रीबी हटाना तथा सभी देशों में अच्छे रिश्ते स्थापित करना भी UNO की स्थापना का उद्देश्य है।

UNO में शामिल होने के लिए शर्ते

UNO में शामिल होने के लिए किसी भी देश को इसके Agreement को Accept करना होता है। इस Agreement के तहत UNO का सदस्य देश बिना इस संगठन की अनुमति के किसी भी देश पर आक्रमण नहीं कर सकता है।

इसके साथ ही बिना UNO की सहमति के कोई भी देश परमाणु बम तथा Nuclear बम जैसे घातक नरसंहारी हथियारों का प्रयोग नहीं कर सकता है। इसके साथ ही बहुत से ऐसे नियम UNO द्वारा बनाये गए हैं जिसका पालन UNO के सदस्य देशों को करना होता है। UNO के ये सभी नियम विश्व में शांति व्यवस्था बनाये रखने तथा विभिन्न देशों के बीच प्रेमपूर्ण रिश्ते बनाने की प्रतिबद्धता करते हैं।

World Bank, WHO और IMF के काम

विश्व में आर्थिक मंदी को दूर करने के लिए UNO द्वारा 1947 में World Bank तथा IMF की भी स्थापना की गयी। World Bank दुनिया भर में UNO के जो सदस्य देश है उन्हें विकास कार्यों के लिए Loan देता है तथा IMF दुनिया के सभी देशों को Interbanking के लिए Plateform देने का काम करता है।

WHO( World Health Organization) की स्थापना भी UNO द्वारा की गई थी। WHO की स्थापना का उद्देश्य विश्व में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाना है। UNO द्वारा स्थापित ये संगठन पूरी दुनिया में लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए कार्य करता है।

UNO को fund कहाँ से मिलता है?

UNO के लिए Fund उपलब्ध कराने का काम इसके ही सदस्य देशों द्वारा किया जाता है। साल 2016 में UNO के सम्पूर्ण Budget में सबसे ज्यादा हिस्सेदारी USA का रहा था जो कि 22% प्रतिशत था। वहीं UNO के बजट में अधिकतम हिस्सेदारी देने वाले शीर्ष पाँच देशों में अमेरिका के बाद क्रमशः जापान, चीन, जर्मनी तथा फ्राँस हैं।

ये भी जाने

UNO पोस्ट पर हमारी राय

विश्व में शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए तथा दुनिया के अन्य मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए UNO को Nobel Prize भी मिल चुका है।

इस पोस्ट में हम ने जाना UNO क्या है, इस के फायदे, इसके मेंबर और UNO full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: