SEO कैसे करे? SEO के 11 basic rules

कोई भी खुद को SEO experts कह सकता है मगर कोई ये कहे की मुझे Search engine optimization के सारे rules पता है, तो ये बात गलत है।

आप exprience और practice से समझ सकते है की SEO कैसे करे. मगर इसका ये मतलब भी नहीं की आपको SEO की पूरी knowledge है। Google और दूसरे search engines कभी भी अपने सभी SEO rules नहीं बताते।

Google के experts हमे search engine optimization की basic practices के बारे मे बताते है जिसे फॉलो कर हम blog को अच्छी position मे stand करा सकते है। SEO marketing companies के कुछ experts ने अपनी कोशिश और experiment से SEO को deep में समझा है और basic से आगे बढ़ने मे सफल हुए है मगर वे खुद भी स्वीकार करते है की सर्च इंजिन के exact algorithms को कोई नहीं जानता। इन सबका कहना है की SEO कोई magic bullet नहीं है।

हम सिर्फ Basic SEO Techniques को फॉलो कर optimization का बेस्ट प्रयास कर सकते है। SEO की हर छोटी बात पर तनाव लेना नहीं चाहिए। हमे बस सीखना है की SEO कैसे करे।

SEO कैसे करे?

SEO organic traffic के लिए बहुत ज़रूरी है. आइये जाएँ है SEO कैसे करे?

SEO कैसे करे?

वैसे तो गूगल के 3 सबसे बड़े ranking factor है Content, Backlink और rankbrain.

पर इन तीनो को समझने के लिए हमे बाकी factor को भी जानना होता है.
इन 10-point को पढ़ कर आप को idea हो जाएगा की SEO कैसे करे.

1. अच्छा content बनाने की कोशिश करे

हमेश अच्छा content बनाने की कोशिश करे। Internet की शुरुआत ही contents (सामग्री) को लोगो के सामने लाने के लिए हुई है। अगर आपके ब्लॉग मे unique और quality content है तो SEO और backlinks के लिए आपको ज़्यादा मेहनत करनी की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। आपको वही देना होगा जो लोग चाहते है, तलाशते है, आपको prove करना है वो सही जगह पर आए है, और वो बार बार आना शुरू कर देंगे।

सोचिए ऐसे कितने ब्लॉग है जिसकी visit आप अक्सर करते है, जिनको आपने bookmark किया हुआ है, जिसका ब्लॉग address आपको याद है, सोचिए आप क्यू अक्सर कुछ खास ब्लॉग ही visit करते रहते है? क्या आपको उस ब्लॉग के keywords पसंद है? क्या आप उसके rank की वजह से वहाँ जाते रहते है? जवाब ना ही होगा, आप वहाँ जाते है क्योकि आपको उसके contents unique और अच्छा लगता है। आपको उस ब्लॉग का address याद है क्योकि आप उसके contents की quality से प्रभावित हुए है। यही secret है SEO का।

आप जो लिखने जा रहे है उस बारें मे आपके competitors ने क्या लिखा है, ये जरूर देख ले मगर उसके sentence या paragraph को copy ना करे। Competitors के ज़रूरी points को note कर ले और पोस्ट लिखते वक्त उन सभी points को अपने natural way मे describe करे।

ब्लॉगिंग मे किसी और के विचारो को चुरा लेना गलत नहीं है मगर implement का तरीका अलग और आपका होना चाहिए, मतलब उनके ideas को आप सजाकर, अपने ideas के साथ मिक्स कर अपने अनोखे तरीके से ब्लॉग मे पेश करेंगे तो आपका ब्लॉग भी bookmarking के काबिल हो जाएगा। और लोग आप से पूछेंगे की SEO कैसे करे

Good contents ही SEO का main rule है.
याद रखे आप कितने भी अच्छे backlinks बना ले, अगर content बेकार है तो आपकी पोस्ट rank नहीं करेगी.

2. Blog को ठीक से design करे

Blog को अच्छी तरह से design करना बहुत ज़रूरी है। बिना ज़रूरत के gadgets को ब्लॉग मे install ना करे।

पोस्ट मे heading और subheadings (h2,h3 etc) का keywords के साथ use करे। कोई खास paragraph, quotation, अथवा किसी और के source को पोस्ट मे दिखाना चाहते है तो blockquote का use करे।

Blockquote आपके content को value देता है क्योकि आप पोस्ट के बारे में कुछ बात को खास अंदाज मे लोगो के सामने पेश कर रहे है और इससे आपकी पोस्ट को अच्छी ranking मिल सकती है। इसे add करने के लिए paragraph को select कर ऊपर tool bar मे quote के symbol को क्लिक कर दे।

हर पोस्ट में कम से कम एक Pic ज़रूर लगाए. और Ads का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल न करे.

3. Blog address को सही तरीके से Redirect करे

Blog की शुरुआत में ही चुन ले की आपको WWW इस्तेमाल करना है या नहीं.
फिर WWW और non-WWW version दोनों को एक Address पर redirect करे. अगर आप WordPress इस्तेमाल कर रहे है तो WordPress ऐसा हुद कर देगा.

अपनी पोस्ट के address को सेलेक्ट करे.
हर पोस्ट के Address के लास्ट में Date नज़र आती है, वो दिखने में और SEO के हिसाब से सही नहीं है.
तो अपनी post के slug को पोस्ट name कर दे.

4. कुछ अच्छे backlinks बनाए

सब से पहले समझ लेते है की backlink क्या है?

जब भी किसी दूसरी वेबसाइट से आपकी website पर link बनता है तो उसे backlink consider किया जाता है.
BackLink दो तरह के होते है. Do follow और No follow.

Do follow backlink आपकी ranking को google में ऊपर लाने में मदद करते है, क्यों की वो Link juice pass करते है.

व्ही No- follow लिंक की इतनी ज़्यादा वैल्यू नहीं होती क्यों की ये link juice pass नहीं करते.

मुझे मालूम है आप backlinks सुन कर थोड़े परेशान हो जाते है। पर, SEO मे back links के importants को हम नकारते नहीं है मगर यह ध्यान मे रखे की Google ने बता दिया है की back link की game अब change हो चुकी है।
अब वो टाइम नहीं रहा जब लोग बेकार content खरीदते थे, कुछ हज़ार बैकलिंक बनाते और rank कर जाते थे

Backlink को इतना ज़रूरी बताने के पीछे, Online links selling करती companies का सबसे बड़ा हाथ है, क्योकि इसमे उनका फायदा है। इन लोगो ने back links की अफवा को इतना फैला दिया है की ब्लॉगर समझने लगते है की अगर हमने ढेरो backlinks को नहीं बनाया तो हमारा ब्लॉग SERP मे कभी भी आगे नहीं आ सकेगा और वो पैसे खर्च कर links खरीदते है बदले मे अपने ब्लॉग को भारी नुकसान मे डाल देते है।

किसी भी webpage मे अगर आपके page की link है तो दोनों pages के content एक जैसा होना चाहिए। links खरीदने पर ये नहीं होता.

Link building का तरीका natural होना चाहिए। अगर आप एक ही दिन मे अनेक links को create करते है तो यह बिलकुल भी natural नहीं है। Links खरीदने पर यही होता है।
Google के terms and conditions को follow नहीं कर रहे webpage मे आपकी लिंक नहीं होनी चाहिए।

Forums मे comments add करने से पहले कुछ बातो पर ध्यान दे। कई forums ऐसे होते है जिसमे बेकार content users द्वारा upload की जाती है जिसे google नापसंद करता है। अगर ऐसे forums मे आपने कोई link add की तो गूगल की नजर मे ये साबित होगा की आप ऐसी content को वैल्यू देते है और आपके ब्लॉग को कभी बढ़िया rank नहीं मिलेगा।

Forums और comments मे पायी गयी links को गूगल अच्छी तरह पहचानता है की ये links खुद आपके द्वारा ही add की गयी है। अगर कोई अपनी पोस्ट लिखते वक्त reference के लिए आपके page को लिंक करता है तो इसकी वैल्यू सबसे ज्यादा है।
अगर आप किसी ओर के साथ links exchange करते है तो Google इस activity को पहचान लेता है और इसका result negative ही होता है।

हम आपको सुझाव देते है की आप backlink को ज्यादा महत्व ना दे। एसी कोई भी गलत कोशिश कभी ना करे जिससे आपके ब्लॉग की वैल्यू बढ्ने की बजाय zero हो जाए। बढ़िया quality contents को लिखने का प्रयास करे, अगर आप इसमे सफल होते है तो आपको अपने आप natural link मिलती रहेगी। 10,000 Unnatural लिंक की वैल्यू से 1 natural लिंक की वैल्यू काफी ज्यादा है। Social Bookmarks, Profile Links, Blog Comments और Directory Submissions जैसे option का इस्तेमाल करे.

गूगल आज कल social signal पर बहुत ध्यान देता है. तो अपनी पोस्ट को social networking website पर भी डालते रहे.

5. External Linking to Trusted Websites

जिस तरह से हम अपने ब्लॉग की दूसरी posts को Internal link करते है, इसी तरह पोस्ट मे external link यानि किसी दूसरी website की link भी add करना जरूरी है।

आप जो भी page को link कर रहे है उसमे दी गयी information आपकी पोस्ट से relevant (समान) होनी चाहिए और उस website का trust level high होना चाहिए। अगर आपको link की हुई website की authority तथा popularity के बारे मे कोई idea नहीं है तो आपको link मे nofollow tag का use करना चाहिए।

On page optimization के point of view से देखा जाए तो पोस्ट मे external linking आपके पोस्ट content को search engine की नजर मे informative और creditable बना सकती है।

एक पोस्ट में कम से कम 1 बार तो external linking होनी चाहिए.
SEO कैसे करे पोस्ट को detail में समझने के लिए हम internal linking की भी बात करते है.

6. Internal Linking

Internal linking का मतलब है आपने ब्लॉग की एक पोस्ट में आपने ही ब्लॉग की दूसरी पोस्ट का लिंक डालना.
इस से आप को जो Domain authority मिली हुई है, वो सब pages में distribute होती रहती है.
आप एक पोस्ट में 3-4 Internal linking तक कर सकते है.
पर:

आपकी लिंकिंग relevant या मिलते हुए content पर ही होनी चाहिए.

7. ALT tag

आप जब भी Pic upload करे तो उसमे alt tag ज़रूर लिखे.
ये एक रैंकिंग factor भी है और search engine को photos को समझने में मदद भी मिलती है.

Caption या description को आप चोर सकते है पर ALT हमेशा लिखे.
Alt tag आपका keyword होना चाहिए.

8. Meta tag और description लिखे

Meta tag और description आपकी website पर नज़र नहीं आता.
पर जब कोई आपकी पोस्ट को गूगल पर search करता है तो SERP में उसको आपके META दिखते है.

अपने keyword को Meta में ज़रूर लिखे. इस से वो Highlight होते है और user ज़्यादा क्लिक करते है.
जैसे इस पोस्ट का Title है – SEO कैसे करे.
तो मेने ये keyword meta title और Meta description दोनों में लिखा है.
अब जब कोई गूगल पर लिखेगा की SEO कैसे करे. तो उसको ये keyword SERP में bold font में नज़र आएगा.

9. Social Signal

Social signal का मतलब है की आपकी वेबसाइट कितनी बार सोशल साइट पर शेयर हुई है. Social sharing एक तरह का बैकलिंक ही होता.

तो अपनी website को सारे social नेटवर्क से connect करे जब भी कोई पोस्ट लिखे तो उसे Facebook, Twitter और Google plus पर ज़रूर शेयर करे.

10. Site loading speed

वेबसाइट की loading स्पीड भी एक ranking फैक्टर है.
तो जितना हो सके उतनी अपनी वेबसाइट को फ़ास्ट करे. अच्छी hosting ले, Images को optamize करे, CDN नेटवर्क का इस्तेमाल करे.
और GTmatrix में अपनी वेबसाइट की स्पीड चेक करते रहे.
वेबसाइट की स्पीड जितनी कम हो उतना बेहतर है.

11. SSL certificate का इस्तेमाल करे

SSL Certificate आपके यूजर के डाटा को protect रखता है.
तो आप वेबसाइट पर transection करे या न करे पर SSL ज़रूर ले.
SSL certificate न होने से chrome में यूजर को आपकी वेबसाइट पर unsecure का sign नज़र आता है.

इस से आपके यूजर बैक का बटन दबा कर वापिस चले जाते है.
इस से आपका bounce रेट बढ़ेगा और ranking कम होगी.

इस पोस्ट पर हमारी राय

वेबसाइट पर traffic लाने का सबसे अच्छा तरीका SEO ही है.
आप facebook या google पर ads चला सकते है.
पर एक टाइम के बाद वो ads बंद करने होंगे.

इसलिए जितना जल्दी हो सके हमे गूगल से organic traffic लाने की कोशिश करनी चाहिए.

साथ में आप social network पर अकाउंट बनाये और पोस्ट वह शेयर करते रहे.

पर Social media से traffic बस कुछ ही niche है जिनपर ज़्यादा आता है जैसे की Funny या वायरल.

बाकी साड़ी वेबसाइट के लिए हमे Search इंजन की ही ज़रूरत पढ़ती है.

हमे कमेंट में बताये की आपको हमारी पोस्ट SEO कैसे करे कैसी लगी?

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ.

6 Comments

  1. Bishnu May 22, 2018
    • Umair habib June 9, 2018
  2. Pandole Study May 30, 2018
    • Umair habib June 9, 2018
  3. rovin singh chauhan July 2, 2018
    • Umair habib July 11, 2018

Leave a Reply