RAS full form in Hindi – आर ए एस का मतलब क्या है?

दोस्तो आप सभी ने RAS का नाम कभी ना कभी तो जरूर ही सुना होगा। अगर आप राजस्थान से है तो आप निश्चित रूप से इसके बारे में और कुछ भी जानते होंगे। लेकिन अगर बात करें इसके फुलफॉर्म की तो हममें से बहुत कम लोग ही इसके फुलफॉर्म के बारें में जानते होंगे। इसीलिए दोस्तो आज हम आपको न सिर्फ़ RAS Full form in Hindi बताएंगे बल्कि इससे जुड़ी अन्य जानकारी भी आपको देने वाले हैं।

इस क्रममे आइये सबसे पहले जान लेते है कि RAS का फुलफॉर्म क्या होता है?

RAS full form in Hindi

 आज हम जानेगे RAS full form हिंदी में.

RAS full form

RAS का फुलफॉर्म – Rajasthan Administrative Services

RAS meaning in Hindi – राजस्थान प्रशासनिक सेवा

RAS राजस्थान सरकार के आधीन एक Board है जो कि इस राज्य के लिए प्रशासनिक अधिकारियों का चयन करता है। जैसा कि हम सभी जानते है कि हर State में एक ऐसा आयोग होता है जो कि उस State के लिए अधिकारियों का चयन करता है। जिसे लोक सेवा आयोग भी कहा जाता है। ठीक इसी तरह राजस्थान सरकार द्वारा जो भी कर्मचारी या Officer उनके आधीन आते है उनका Selection, RAS द्वारा ही किया जाता है।

ये भी जानो – PNR का का आखिर मतलब क्या है?

RAS का काम क्या है?

हमारे देश मे जितनी जितने भी Government Job होती है उन्हें 2 Part में Devide किया जा सकता है। पहले भाग में वो नौकरियाँ आती है जो कि Central Government के आधीन होती है।इसके लिए कर्मचारियों का चुनाव भी केंद्र सरकार के द्वारा ही किया जाता है। जैसे कि रेलवे, बैंक, CPWD, आदि Central Government संस्थाओं के जॉब।

दूसरी श्रेणी में उन नौकरियों को रखा जा सकता है जो कि राज्य सरकार यानी कि State Government के under में आती है। इन सभी नौकरियों के लिए Candidate का चुनाव राज्य सरकार द्वारा किया जाता है।

RAS एक ऐसी ही Body है जो कि राजस्थान सरकार के लिए काम करती है । राजस्थान सरकार के under में जितने भी प्रशासनिक Officer आते है, उन सभी का चुनाव RAS के द्वारा ही किया जाता है।

ये भी जानो – नासा का मतलब क्या है?

RAS राजस्थान सरकार के लिए प्रशासनिक अधिकारियों का चुनाव विभिन्न Exam के ज़रिए करता है। जो भी Candidate राजस्थान सरकार में एक प्रशासनिक Officer की नौकरीं करना चाहता है उसे RAS द्वारा निकाले गए भर्ती के फॉर्म को भरना होता है। RAS के फॉर्म के लिए राजस्थान सरकार ने कुछ Eligibility भी निर्धारित की हुई है। इस Eligibility को पूरा करने वाले Candidate ही RAS के फॉर्म को भर सकते हैं।

RAS के लिए eligibility क्या है?

इसी क्रम में आइये जानते है कि RAS के लिए Candidate की Eligibility क्या होनीं चाहिए।

  1. Candidate की Age 21- 35 साल के बीच हो।
  2. Candidate का किसी भी Subject से Graduation पास होना जरूरी है।
  3. Candidate का भारत का नागरिक होना आवश्यक है।

इन सभी Eligibility को पूरा करने के बाद ही आप RAS के फॉर्म को भर सकते है और इसके द्वारा कराए जाने वाले Exam को दे सकते हैं।

RAS exam की जानकारी

RAS का Exam भी तीन चरणों मे पूरा होता है।इन तीनो ही Step को पास करने वाले Candidate ही राजस्थान में प्रशासनिक अधिकारी बन सकते हैं।

आइये जानते है कि RAS के Exam के तीन चरण कौन-कौन से है-

1. Priliminary Exam-

इसे प्रारंभिक परीक्षा भी कहते है। इस Exam में Candidate से साधारण General Knowledge तथा Reasioning के प्रश्न पूछे जाते है। ये Exam Objective Type का होता है।इस Exam को पास करने के बाद ही आप इसके अगले चरण के Exam में जा सकते हैं।

2. Mains Exam-

इसे मुख्य परीक्षा भी कहते है। RAS का ये Exam Writtenमें होता है। इस Exam में Candidate से उसके Graduation के Subject से Related प्रश्न पूछे जाते हैं। इस Exam को पास करने के बाद Candidate को Interview के लिए बुलाया जाता है।

ये भी जानो – LLB कैसे करे?

3. Interview-

ये RAS के Exam का आखिरी चरण है। Pre तथा Mains Exam में पास हुए Candidate को ही इसके Interview के लिए बुलाया जाता है। Interview में आये Marks के अनुसार ही सफल Candidate का चुनाव किया जाता है.

RAS में Candidate का Final Selection प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा इंटरव्यू में आये Marks की Merit बनाकर ही किया जाता है।
अंतिम रूप से चयनित Candidate को अधिकारी बनने की Training के लिए भेजा जाता है। Training पूरी करने के बाद उन Candidate को राजस्थान के भीतर ही विभिन्न जिलों में posting के लिए भेजा जाता है।

इस पोस्ट पर हमारी राय

हमे ने यहाँ जाना की RAS exam के लिए eligibility, इसके exam की details और RAS full form in Hindi. अगर आपका कोई सवाल बाकी है तो comment में ज़रूर पूछे

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: