Ponzi Scheme क्या है?

Ponzi Scheme एक तरह का Fraud है जिसमें लोगों को कम समय में अधिक पैसे कमाने का लालच देकर उन्हें ठगी का शिकार बनाया जाता है। ऐसे में कहीं आप भी इस Scheme के धोखे में फँसकर अपने मेहनत की कमाई ना गवाँ बैठे इसलिए इसके बारे में जानना आपके लिए आवश्यक है। इसीलिए आज हम आपको Ponzi Scheme से जुड़ी सारी जानकारी देने वाले हैं।

Ponzi Scheme क्या है?

Ponzi Scheme एक तरह का धोखाधड़ी करने का धन्धा है। इसमें काम करने वाले लोग अन्य लोगों को ये कहकर पैसा Invest करने के लिए कहते हैं कि बेहद कम समय में ही आपका पैसा दोगुना या तीन गुना हो जाएगा।

इस काम को करने वाले लोग इसके लिए Proper संगठन बनाते हैं और पूरी टीम के साथ मिलकर किसी क्षेत्र के कई लोगो को एक साथ ठगने का Plan करते हैं। एक बार जब किसी क्षेत्र से बहुत से लोग इनके झाँसे में आकर इन्हें पैसा दे देते हैं तो ये अचानक ही पूरा पैसा लेकर भाग निकलते हैं।

इस संगठन के सदस्य खुद को किसी Company का Employee बताते है तथा फ़र्ज़ी कम्पनी के सारे Document भी लोगो को दिखा देते हैं ताकि उन्हें विश्वास हो जाए। इस तरह से कुछ लोग एक साथ मिलकर इस धोखाधड़ी को अंजाम देते हैं और लोगों के मेहनत की गाढ़ी कमाई लेकर फ़रार हो जाते हैं।

भारत सहित दुनिया के कई देशों में इस तरह की धोखाधड़ी काफ़ी बड़े पैमानें पर की जा रही है। अतः आपको ऐसी धोखाधड़ी से सावधान रहने की ज़रूरत है।

Ponzi की शुरुआत –

ठगी के इस गोरखधंधे की शुरुआत इटली में हुई थी। यहाँ के एके व्यक्ति जिसका नाम चार्ल्स पोंजी था, उसी ने ही इस Scheme की शुरुआत की थी। इसी व्यक्ति के नाम पर ही इसे Ponzi Scheme का नाम दिया गया है।

इटली के साथ ही धीरे-धीरे अमेरिका तथा कनाडा आदि देशों में भी इस Scheme के ज़रिए बहुत से लोगो को ठगी का शिकार बनाया गया है। ठगी के इस धन्धे ने इतनी तेज़ी से लोगो को अपना शिकार बनाया की ये पूरी दुनिया मे बहुत तेज़ी से फैल गया।

दरअसल इस धन्धे में जुड़े कुछ लोग तो काफ़ी मुनाफ़ा कमा लेते हैं लेकिन वास्तव में वो दूसरों के पैसे को ठग कर ही कमा पाते हैं। वहीं अधिकतर लोग इसमे जुड़ने के बाद ठगी का ही शिकार होते हैं। इस Scheme के Famous होने का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि साल 1994 में “Ponzi” शब्द को Oxford Dictionary में भी शामिल कर लिया गया था।

ये भी जाने – पैसा कमाने के गलत तरीके है ये, इन 13 तरीको से हमेशा दूर रहे!!

क्यों होते हैं लोग Ponzi की ठगी का शिकार? 

इस Scheme की ख़ास बात ये है कि जब भी कोई व्यक्ति इससे जुड़ता है तो उसे इसमें शुरुआत में काफ़ी फ़ायदा नज़र आता है। लेकिन कुछ ही समय में उसका पैसा डूबना शुरू हो जाता है। वहीं दूसरी तरफ़ इस Company में काम करने वाले लोग अन्य जनता को काफ़ी लालच दे कर इसमे जोड़ते हैं। जिसकी वज़ह से लोग बेहद कम समय मे ही इसके द्वारा अमीर बनने का ख़्वाब देखने लग जाते हैं।

इसके साथ ही ये एक ऐसा Business Scheme है जिसमें अन्य लोगों को इसे Join कराने पर भी लोगों को कमीशन दिया जाता है। जिससे ये तेज़ी से लोगों में फ़ैलता जाता है। इन्ही सब कारणों से लोग बहुत तेज़ी से Ponzi Scheme की तरफ़ Attract हो कर इसकी ठगी का शिकार हो जाते हैं।

Ponzi Scheme से बचने की टिप्स?

Ponzi Scheme इस समय बहुत तेज़ी से हमारे देश मे फ़ैल रही है। ठगी के इस Scheme का अधिकतर शिकार बेरोजगार और युवा ही होते हैं क्योंकि इसके द्वारा उन्हें बेहद कम समय मे अमीर बनने का ख़्वाब दिखाया जाता है। ऐसे में आप इस तरह की ठगी से बचने के लिए इन बातों का जरूर ध्यान रखें-

  1. दुनिया में कोई भी ऐसी Scheme नहीं है जो कि आपको अचानक ही अमीर बना दे।
  2. कोई भी Company कभी भी आपको Job देने के लिए पैसे की Demand नहीं करेगी। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति पैसे लेकर आपको Job दिलाने की बात करता है तो तुरन्त ही समझ जाएं कि वो आपको ठगने की कोशिश कर रहा है।
  3. किसी भी Company में पैसा Invest करने से पहले उसके बारे मे अच्छे से जाँच पड़ताल कर लें। Company के बारे में Online तथा Offline Data जुटाएं।
  4. अगर आपको किसी भी ऐसे Fraud Company पर शक होता है तो तुरन्त ही नज़दीकी पुलिस स्टेशन पर इसकी सूचना दें।

Ponzi scheme post पर हमारी राय

ठगी का काम न्य नहीं है, ये सदियों से चल रहा है, बस लोगो को ठगने के तरीके वक़्त के साथ बदलते चले गए। अपने आपको ऐसे किसी भी fraud से दूर रखने का सबसे अच्छा तरीके है की लालच में मत आओ।
एक बहुत पूरानी कहावत है की “अगर कंकर के पैसो में हीरे मिले, तो समझ लो कुछ गड़बड़ है”।
मतलब ये है की बिना मेहनत, और वक़्त दिए आप पैसे नहीं कमा सकते है। अगर कोई आपको एक दम से आमिर बनने का तरीका बताए तो उनकी बातो में कभी मत आना।
हमे comment में बताए की आपको हमारी पोस्ट Ponzi scheme क्या है कैसी लगी, कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे।

Leave a Reply

error: