NEFT full form in Hindi – NEFT के फायदे क्या है?

NEFT full form – National Electronic Fund Transfer

इन दिनों अगर आप किसी को पैसे भेजना चाहते हैं या उससे पैसे मंगाना चाहते हैं तो इसके लिए बैंक तक जाने, फार्म भरने और अपनी बारी का इंतजार करने की जरूरत नहीं। ऐसे कई आन लाइन तरीके हैं, जिनके जरिये आप घर बैठे ही चुटकियों में अमाउंट को एक खाते से दूसरे खाते तक पहुंचा सकते हैं। NEFT ऐसा ही एक तरीका है।

आज हम आपको NEFT full form के साथ ही यह जानकारी देंगे कि किस तरह NEFT आपकी जिंदगी को आसान बना रहा है-

NEFT full form in Hindi

नेफ्ट यानी NEFT की फुल फार्म है – National Electronic Fund Transfer

NEFT in Hindi – नेशनल इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर।

NEFT क्या है?

इसका मतलब पैसे को एक बैंक के एकाउंट से दूसरे बैंक के एकाउंट में आन लाइन पहुंचाना है। इंटरनेट बैंकिंग का यह सर्व सुलभ उपाय है। बस जो रकम पहुंचानी है, वह आपके बैंक एकाउंट में होनी चाहिए। इसके लिए बैंक कुछ मामूली चार्ज भी करता है।

मिसाल के तौर पर आपका खाता एचडीएफसी बैंक में है। आप इंटरनेट बैंकिंग में यकीन रखते हैं। अगर आप किसी को इंटरनेट बैंकिंग के जरिये पैसे भेजते हैं तो वह आन लाइन इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर ही कहलाता है। NEFT की कुछ अधिकतम लिमिट भी है। मसलन आप दो लाख तक का फंड इसके जरिये ट्रांसफर कर सकते हैं।

ये भी जाने

कैसे करे NEFT का इस्तेमाल?

NEFT के लिए आपको एकाउंट होल्डर की पूरी जानकारी चाहिए होती है। मसलन एकाउंट होल्डर का नाम। उसके बैंक का नाम, उसका बैंक एकाउंट नंबर, आईएफएससी कोड, एकाउंट होल्डर का मोबाइल नंबर आदि। यह जानकारी भरने के बाद बेनिफिशियरी यानी जिसको पैसा भेजा जाना है, को एड करके उसके खाते में रकम भेज सकते हैं।

इसे एक्टिव होने में 24 घंटे का वक्त लगता है। इस दौरान लाभार्थी की सभी जानकारी को जांचा-परखा जाता है।

एक्टिव होने पर लाभार्थी यानी बेनिफिशियरी को पैसा भेजना संभव हो जाता है। यह भी बता दें कि अगर पैसे भेजते वक्त बैंक के कार्य के घंटे खत्म हो चुके हैं तो यह पैसे बैंक खुलने के बाद ही लाभार्थी के एकाउंट में पहुंचेंगे।

मान लीजिए कि आपने पैसे अपने खाते से रवाना कर दिए हैं, लेकिन किसी भी कारणवश वह किसी दूसरे एकाउंट में पहुंच गए हैं तो भी चिंता की बात नहीं। आप बैंक जाकर एक आवेदन भरकर उस पैसे को लौटाने की बात कर सकते हैं। बैंक संबंधित एकाउंट होल्डर को यह पैसा लौटाने को कहेगा।

अगर वह ऐसा नहीं कर सकता तो उसके खिलाफ केसर दायर किया जा सकता है। अलबत्ता यह प्रक्रिया वक्त लेने वाली है। अधिकांश मामलों में ऐसी नौबत नहीं आती।

NEFT के फायदे?

इन दिनों NEFT का इस्तेमाल इसलिए भी ज्यादा किया जा रहा है, क्योंकि यह इंटरनेट का जमाना है। हर किसी के हाथ में स्मार्ट फोन है। दूसरे, पुराने जमाने की तरह पैसे को साथ लेकर चलने या किसी को पहुंचाने जाने में रिस्क तो है ही, यह बहुत टाइम कंज्यूम करने वाला भी होता है।

आपको अपना काम भी छोड़ना पड़ता है। युवा हों या बिजनेसमैन या कोई दूसरा वर्ग आजकल NEFT के सहारे ही अपने पैसे को एक-दूसरे के खाते ज्यादातर ट्रांसफर कर रहे हैं।

ये भी जाने

NEFT पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना की NEFT क्या है, कैसे काम करता है, NEFT के फायदे और NEFT full Form in Hindi के बारे में।

हमे कमेंट में बताये की आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी? कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे।

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: