NEET full form in Hindi – NEET क्या हैा और कितने तरह की है?

क्या आपका सपना भी डाक्टर बनकर गरीबों की सेवा करना है? क्या आप भी दांतों के बड़े डाक्टर बनना चाहते हैं? क्या आप भी मेडिकल की दुनिया में नाम और शोहरत पाना चाहते हैं तो यह सब यूं ही नहीं होने वाला। इसके लिए आपको नीट पास करना होगा। इसके आधार पर ही देश के किसी भी मेडिकल कालेज में आपका दाखिला सुनिश्चित हो पाएगा।

आज हम आपको नीट यानी NEET full form in Hindi ? इसकी अहमियत और इसके लिए जरूरी योग्यता जैसे आधारभूत बिंदुओं पर जानकारी देंगे। आपको बस इन बिंदुओं को पढ़ना भर है। यह लीजिए-

NEET full form in Hindi

NEET की फुल फार्म – Natianal eligibility cun enterence test

NEET in Hindi – नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट.

यानी राष्ट्रीय योग्यता प्रवेश परीक्षा है। एआईआईएमए, जिपमर और एएफएमसी को छोड़कर बाकी सभी सरकारी एवं गैर सरकारी मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में प्रवेश केवल नीट परीक्षा के जरिये होता है।

ये भी जाने –

NEET क्या है?

NEET की वजह से ‘एक देश एक प्रवेश परीक्षा’ की संकल्पना 2016 में साकार हुई है। इससे पहले छात्र-छात्राओं को मेडिकल में प्रवेश के लिए अलग-अलग प्रवेश परीक्षा में शामिल होना पड़ता था।

लिहाजा, उनके लिए यह सब बहुत मुश्किल था। मसलन-कई तरह के फॉर्म भरना, अलग-अलग तिथियों और अलग-अलग जगहों पर परीक्षा के लिए पहुंचना। न केवल छात्र-छात्राओं, बल्कि उनके माता-पिता को भी इससे बहुत दिक्कतें उठानी पड़ती थीं। इसमें उनका बहुत खर्च होता था। खास तौर पर गरीब मां-बाप के लिए यह बहुत मुश्किल भरा होता था।

NEET के लिए परीक्षा शुल्क भी बेहद कम रखा गया है। लिहाजा, इसने छात्र-छात्राओं के साथ ही उनके मांता-पिता और अभिभावकों की भी मुश्किलें बेहद कम कर दी हैं।

NEET में सीटों का बटवारा

अपने देश में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में केंद्र और राज्य सरकार का कोटा होता है। यह क्रमशः 15 और 85 प्रतिशत रखा गया है। चाहे केंद्रीय कोटा हो या राज्य का। सभी तरह की सीटों पर प्रवेश इस NEET के जरिये ही होता है।

NEET के टाइप

नीट दो तरह की होती है। पहली NEET-UG, जबकि दूसरा NEET-PG ! NEET-UG का आयोजन एमबीबीएस और बीडीएस (अंडर ग्रेजुएट) कोर्स में एडमिशन के लिए होता है। वहीं, NEET-PG परीक्षा का आयोजन एमएस और एमडी (पोस्ट ग्रेजुएट) कोर्स के लिए होता है!

कौन कराता है NEET एग्जाम

NEET – नीट का आयोजन साल में एक ही बार होगा। यह परीक्षा भी पेन और पेपर के जरिये आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा को कराने का जिम्मा एनटीए यानी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को सौंपा गया है। इसी एजेंसी को इस बार यूजीसी नेट परीक्षा कराने का भी जिम्मा दिया गया है।

लेकिन इस बार से यूजीसी नेट आन लाइन होने जा रहा है। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आधार कार्ड की अनिवार्यता तत्काल लागू नहीं की गई है। सभी भाषाओं के प्रश्न पत्र सेट एक जैसे ही होंगे!

ये भी जाने –

ओपन वाले भी दे पाएंगे NEET exam

आपको यह भी बता दें कि ओपन से प्लस टू करने वाले छात्र भी इस बार नीट की परीक्षा दे पाएंगे !
यह भी बता दें कि NEET से पहले मेडिकल प्रवेश परीक्षा को ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट यानी एआईपीएमटी (AIPMT) कहा जाता था ! इसके जरिये सरकारी मेडिकल कॉलेजों के 15 फीसदी एमबीबीएस और बीडीएस की सीटों को भरा जाता था। बाकी बची 85 फीसदी सीटों को राज्य सरकारें अपनी प्रवेश परीक्षा कराकर भरती थीं। निजी कालेज अपनी प्रवेश परीक्षा अलग से कराते थे।

NEET पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना की NEET enterence exam क्या है, इसके फायदे, NEET के type और NEET full form In Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

One Response

  1. Thakur Aman Singh November 17, 2018

Leave a Reply

error: