Mutual fund in Hindi – Mutual fund क्या है?

भारत मे Mutual Fund का इतिहास ज्यादा पुराना नहीं है। इसकी शुरुआत 1963 में भारत सरकार तथा RBI के संयुक्त प्रयास से हुई थी। आइये पहले जानतें है इसके बारे में mutual fund in Hindi.

What is Mutual Fund in Hindi?

शेयर मार्किट के बाद अब हम जानेगे Mutual fund in Hindi

Mutual fund in hindi -म्यूच्यूअल फण्ड क्या है

जब बहुत छोटे-छोटे Investor बड़ी संख्या में अपने पैसे को कहीं पर Invest करतें है तो उसे Mutual Fund कहतें हैं।

Mutual Fund को आसान तरीकें से इस प्रकार समझा जा सकता है की- मान लो आपके पास थोड़ा पैसा है, और आप इस पैसे से कुछ बिज़नेस Start करना चाहते है। अब आपके पास इतना पैसा तो है नहीं कि आप एक साथ ही कोई बड़ी Company Start कर सकें। ऐसे में जो कम्पनियां Market में पहले से ही काफ़ी बड़े रूप में मौजूद है वो आपको मौका देतीं है कि आप कुछ पैसे देकर उस Company के कुछ हिस्से के मालिक बन सकें। इस तरह से Company से जुड़ने से आपको ये फ़ायदा होगा कि अब आप Company के Profit और Loss दोनों के ही भागीदार होंगे।

अगर Company की कमाई बढ़ेगी तो उसके साथ ही आपके द्वारा Invest किये गए पैसे की क़ीमत भी बढ़ेगी। वहीं जब उस Company को बिज़नेस में घाटा होगा तब आपको भी नुक़सान उठाना पड़ सकता है।

इस तरह से किसी Company में जब हम अपने पैसे Invest करतें है तो उसे Company के Share ख़रीदना कहतें हैं।

Mutual Fund से विभिन्न कम्पनियों को ये फ़ायदा होता हैं कि उन्हें इससे मिले पैसे से अपने बिज़नेस को बढाने का मौका मिलता हैं। जब Company अपने बिज़नेस को बड़े रूप में करके अपनी कमाई बढ़ा लेती हैं तो उस Company से जुड़े छोटे-छोटे Investors को भी फ़ायदा होता हैं।

अगर आप सही Company का चुनाव करके सही समय पर किसी Company के शेयर ख़रीदते है तो आप भी Mutual Fund के द्वारा अच्छी कमाई कर सकतें हैं।

ये भी जाने – What is share market in Hindi?

भारत मे Mutual Fund का इतिहास –

साल 1947 में भारत के आज़ाद होनें के बाद हमारे देश की Economy दुनिया के अन्य देशों की तुलना में काफ़ी पीछे चल रही थी। किसी भी देश की Economy मुख्य रूप से वहाँ के बिज़नेस पर ही Depend करती है। इसीलिए भारत सरकार तथा Reserve Bank Of India ने देश को आर्थिक गति देनें के लिए Mutual Fund की शुरुआत की थी।

Mutual Fund की शुरुआत से ना सिर्फ़ भारत के Industrial Field को Investars के द्वारा दिये गए पैसे से व्यापार बढाने का फ़ायदा मिला बल्कि जो भारत की आम Middile Claas जनता थी उन्हें भी इसके ज़रिए अमीर होनें का मौका मिला।

Mutual Fund किसी भी आम व्यक्ति को किसी बड़ी कम्पनी का मालिक बनने का हक देता है।जब से Mutual Fund की शुरुआत भारत मे हुई हैं तब से बहुत से लोग इसके ज़रिए काफ़ी पैसा कमा चुकें हैं।

ये भी जाने –Share market tips in Hindi

Mutual Fund के प्रकार-

Investment के तरीकों तथा Mutual Fund में निवेश के अनुसार भारत में Mutual Fund को मुख्यतः 5 भागों में बाँटा गया है।

1. Money Market Mutual Fund –

इस Mutual Fund में Investors द्वारा लगाए गए पैसों को कम्पनी किसी ऐसी जग़ह पर Invest करती है जहाँ से उन्हें जल्द ही Return मिलने लगता हैं। ऐसे में इस Mutual Fund में Investors द्वारा किये गए निवेश कम समय सीमा के होतें हैं। जब आप Mutual Fund में कम समय के लिए ही Invest करना चाहते हो तो आप इस तरह के Mutual Fund का चुनाव करें।

2. Balance Fund –

इस Mutual Fund में Investors द्वारा मिलें पैसों को कंपनी शेयर बाज़ार में डालकर ज्यादा से ज्यादा पैसे कमानें की कोशिश करती है। बेशक इसमें Investors को ज्यादा Profit कमानें का मौका मिलता हैं लेकिन इसके साथ ही इसमें Loss का भी Risk ज्यादा होता है। ऐसे में अगर आप मुटुल Fund में ज्यादा Risk लेनें का हौसला रखतें है तभी इस Mutual Fund में Investment करें।

3. Debt Fund –

इस Mutual Fund में निवेशकों द्वारा प्राप्त पैसे को कंपनी अधिकतर सरकारी संस्थाओं तथा Loan संबंधी कार्यों के लिए Invest करती हैं। ऐसे में इस Mutual Fund में Investors को Loss का सामना कम ही करना पड़ता हैं। इसमें आपके द्वारा Invest की गयी राशि का Return मिलना लगभग निश्चित ही होता हैं। ऐसे में ये Mutual Fund उन लोगों के लिए एकदम Perfect है जो कि बिना किसी Risk के Mutual Fund में Invest करना चाहतें हैं।

4. Iquity Fund –

ये इस तरह का Mutual Fund होता है जिसमें कंपनी निवेशकों द्वारा प्राप्त पैसे को Iquity Share में निवेश करती है। ऐसे में इस Mutual Fund में Loss होनें का काफ़ी Risk होता है। वहीं दूसरी तरफ़ इसमें फायदा भी कई गुना होता हैं। ऐसे में ये उन Investors के लिए एकदम Perfect हैं जो कि बड़ा Risk लेनें से नही डरते हैं।

5. Gift Fund –

Gilt Fund ऐसा Mutual Fund है जो कि बिल्कुल सुरक्षित माना जाता हैं। इसमें निवेशकों का पैसा एकदम सुरक्षित रहता हैं। इस Mutual Fund में निवेशकों से मिलें सारे पैसे को कंपनी सरकारी Sceam में लगा देती है। ऐसे में इस Mutual Fund में Loss होने की संभावना नहीं होती है। इसमें Investors को उनका Return एकदम सुरक्षित मिलता है।

ये भी जाने – Commodity market in Hindi

Mutual Fund में Invest करनें का तरीका-

Mutual Fund एक ज़ोखिम वाला Investment है। यहाँ पर inveters को कई बार Profit के साथ ही Loss का भी सामना करना पड़ता हैं। कई बार ऐसा देखा गया है कि लोग Mutual Fund में पैसे लगाकर Loss भी झेल चुकें हैं। लेकिन Mutual Fund एक ऐसा Plateform है जहाँ अगर कोई व्यक्ति ठीक तरीक़े से Invest करे तो निश्चित रूप से वो अच्छी Income कर सकता है।

अक्सर लोगों के मन में ये सवाल रहता है कि आख़िर Mutual Fund में किस तरह से पैसे Invest करें। जिससे कि हम इसके द्वारा ज्यादा फायदा कमा सकें। आइये आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने वाले हैं, जिसका ध्यान आपको Mutual Fund में Invest करनें से पहले जरूर रखना चाहिए। इन बातों का ध्यान रखकर आप निश्चित रूप से Mutual Fund में ज्यादा फ़ायदा कमा सकते हैं।

1. करें सही Mutual Fund का चुनाव –

Mutual Fund में फ़ायदा कमाने का सबसे पहला क़दम हैं अपने लिए सही Mutual Fund का चुनाव। Mutual Fund में अपने पैसे इन्वेस्ट करनें से पहले आपको ये तय करना आवश्यक है कि, आप कितने दिनों के लिए Mutual Fund में पैसे लगा सकतें हैं। इसके अनुसार ही अपने लिए Mutual Fund का चुनाव करें। अवधि के अनुसार ही अलग-अलग Mutual Fund के प्लान Market में मौजूद हैं। आप अपने Investment की अवधि के अनुसार ही Mutual Fund का चुनाव करें।

2. अपने Risk लेनें की Capacity को जरूर ध्यान में रखें-

Mutual Fund पूरी तरह से Market के ज़ोखिम पर आधारित होता हैं। यहाँ पर अधिक पैसे Invest करने पर आप निश्चित रूप से अधिक Profit कमा सकतें हैं। लेकिन दूसरी तरफ़ Investment ज्यादा होने पर Loss होने पर आपको ज्यादा पैसे का नुक़सान भी उठाना पड़ सकता है। ऐसे में आप Mutual Fund में उतना ही Invest करें जितने पैसों का ज़ोखिम आप उठा सकतें हैं।

इसके साथ ही किसी ऐसे Mutual Fund का चुनाव करें जिसमें कम से कम आपका Return सुरक्षित रहे।

3. Fund का पिछला रिकॉर्ड जरूर Check करें-

Mutual Fund में Investors का Profit तथा Loss पूरी तरह से कम्पनी के Profit और Loss पर निर्भर करता है। ऐसे में इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि, किसी कंपनी के Mutual Fund का प्रदर्शन अभी तक अच्छा रहा है तो वो आगे भी अच्छा ही रहेगा।

लेकिन आप जब भी किसी कंपनी के Mutual Fund में निवेश करने जा रहें है तो उस कंपनी के पुराने रिकॉर्ड को जरूर Check करें। इससे आपको उस कंपनी के Mutual Fund के अब तक के रिकॉर्ड का एक Idea मिल जाएगा। इससे आपको पता चलेगा कि इस कंपनी के Mutual Fund में Invest करनें से आपको Profit मिलने का कितना Chance है। इसके अनुसार ही आप किस कंपनी के Mutual Fund में Invest करें।

4. सही समय पर लें अपना Return-

Mutual Fund में Return को सही समय पर ही लेकर Profit कमाया जा सकता है। ऐसे में Mutual Fund में Invest करनें के बाद आप हमेशा अपने Fund पर नज़र रखें। जब भी आपकी कंपनी Profit में हो तथा उसके Share के दाम बढ़ रहे हो तब ही आप Mutual Fund का Return लें।इसके लिए आप किसी Mutual Fund Expert की सलाह भी जरूर लेतें रहें।

ये भी जाने – Intraday trading क्या है ?

इस पोस्ट पर हमारी राय

दोस्तों आज हमने आपको Mutual Fund तथा इससे जुड़ी सभी बातों को बताया है। यहाँ दी गयी जानकारी से आप निश्चित रूप से Mutual Fund तथा उससे जुड़ी सभी बातें अच्छी तरह से समझ गए होंगे। इसके साथ ही आप इन जानकारियों की मदद से Mutual Fund में Invest करके Profit भी कमा सकते हैं।आशा करतें है कि आपको यहाँ पर दी गयी सभी जानकारियां पसंद आयी होगी।

हमे comment में बताए की आपको हमारी पोस्ट mutual fund in Hindi कैसी लगी.
कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ,India को digital बनाओ

2 Comments

  1. Thakur Aman Singh September 8, 2018
    • Umair habib September 8, 2018

Leave a Reply

error: