IQ full form in Hindi – IQ क्या है?

IQ Full Form – Intelligence Quotient

दोस्तों IQ के बारे में तो हम सभी सुनते रहते है। जब किसी व्यक्ति का दिमाग बहुत तेज़ होता है यानी की वो किसी सवाल का जवाब बहुत जल्दी से दे देता है तो हम उसके लिए कहते हैं की इस व्यक्ति का IQ काफ़ी अच्छा है।

लेकिन अगर बात की जाए IQ full form की तो बहुत कम लोगो को ही IQ का फुलफॉर्म पता होता है। इसीलिए आज के इस Article में हम आपको IQ का फुलफॉर्म बताने के साथ ही इससे जुड़ी अन्य Important बाते भी बताने वाले हैं।

IQ full form in Hindi

IQ फुलफॉर्म – Intelligence Quotient

IQ in Hindi – इंटेलिजेंस कोशेंट

वहीं अगर बात की जाए IQ के फुलफॉर्म के हिन्दी मे अर्थ की तो इसे हिन्दी भाषा में ‘बौद्धिक स्तर’ कहा जाता है।

IQ क्या है?

इंसान के बौद्धिक स्तर या बौद्धिक क्षमता को ही उसका IQ कहा जाता है। किसी इंसान के IQ का अंदाजा उसके द्वारा विभिन्न तार्किक प्रश्नों को हल करने की क्षमता के अनुसार लगाया जाता है।

IQ की जाँच के लिए व्यक्ति को कुछ सवाल हल करने के लिए दिया जाता है अब उस सवाल के हल करने की उसकी Capability के अनुसार उसके IQ का Standard बताया जाता है।इसके साथ ही IQ Test में लोगो को बहुत से Visual Test तथा Verbal Test भी पास करने होते हैं।

IQ की शुरुआत

IQ को जाँचने का काम सबसे पहली बार साल 1912 में Psychologist William Stern द्वारा किया गया था। उन्होंने किसी व्यक्ति के IQ की माप के लिए 1 से 150 तक के अंकों को लिया।

इसमें 80 से कम IQ Point रखने वाले व्यक्तियों को कम IQ वाले तथा 120 से अधिक का IQ Point रखने वाले व्यक्तियों को अधिक IQ वाले यानी कि बुद्धिमान माना गया है।

एक Survey के अनुसार दुनिया की लगभग दो-तिहाई आबादी का IQ 85 से 115 के बीच में है। अतः ये लोग सामान्य IQ वाले लोग के रूप में जाने जाते हैं। वहीं लगभग कुल आबादी के 2.5 प्रतिशत लोगो का IQ 130 से ऊपर का है तथा 2.5 प्रतिशत लोगों का IQ 70 से नीचे है।

अतः 2.5 प्रतिशत लोग जो कि 130 से ऊपर का IQ Score रखते है वो काफ़ी बुद्धिमान की श्रेणी में आते हैं तथा 2.5 प्रतिशत लोग जिनका IQ Score 70 से कम है वो कम दिमाग़ वाले लोग हैं।

IQ score जानने के फायदे क्या है?

IQ Score जानने का मक़सद ये है कि हमें पता चल सके कि दुनिया मे रहने वाले सभी लोगो का मानसिक स्तर किस तरह का है।

हमने IQ का फुलफॉर्म तथा इससे जुड़ी और भी important बातो को तो जान लिया अब आइये इसी क्रम में थोड़ा IQ की History के बारे में भी जान लेते हैं।

History of IQ

दोस्तों IQ का इतिहास काफ़ी पुराना है। काफ़ी पहले के समय से ही लोगो की मानसिक स्थिति यानी कि IQ का आँकलन किया जाता था। अब ये अलग बात है कि उस समय IQ को जानने के लिए कोई Test नही लिया जाता था बल्कि लोगो के रहन सहन तथा उनके सामाजिक व्यवहार से ही उनके IQ का अनुमान लगा लिया जाता था।

इंग्लैंड के वैज्ञानिक Francis Galton ने पहली बार लोगों के IQ Test के लिए एक Standard बनाने का काम किया था। इन्होंने ने ही दुनिया का सबसे पहला Mental Testing Centre सन 1882 में खोला था। जहाँ पर उन्होंने लोगो के बौद्धिक क्षमता को मापने के काम शुरू किया था।

सन 1914 में हुए पहले विश्व युद्ध के में Army की भर्ती के लिए अमेरिका द्वारा काफ़ी लोगो का IQ Test करवाया गया था। उड़ समय लगभग 12 लाख लोगों का IQ Test किया गया था। IQ Level के अनुसार ही अमेरिकन Army ने लोगों को सेना मे विभिन्न पदों पर भर्ती किया था।

IQ पोस्ट पर हमारी राय

दोस्तों IQ Test से हम किसी के भी बौद्धिक स्तर का पता लगा सकते हैं। ये Test कराना इसलिए आवश्यक है जिससे कि लोगों के मानसिक स्तर का पता लग सके तथा उसी हिसाब से उन्हें Treat किया जाए।

भारत मे भी बहुत से महत्वपूर्ण पदों पर काबिज़ होने के लिए आपको IQ Test पास करना पड़ता है। Army तथा Administration Department के बहुत से ऐसे पद हैं जिन्हें हासिल करने के लिए हमें IQ Test देना पड़ता है।

इस पोस्ट में हम ने जाना IQ क्या है, कैसे जानते है IQ score और IQ full Form in Hindi के बारे में।

Leave a Reply

error: