IPS ऑफिसर कैसे बनें?

आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) की नौकरीं भारतीय समाज मे एक बेहद सम्मान और ऊंचे दर्ज़े की नौकरीं मानी जाती हैं। एक आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) बेहद कठिन Exam तथा कठिन Training को पार करके ही इस मुक़ाम तक पहुँचता हैं। भारत में हर साल लाखों युवा IPS Officer बननें का सपना अपने आँखों मे लिए हुए इसके लिए जी तोड़ तैयारी करतें हैं। लेकिन उनमें से सिर्फ़ कुछ Special Candidate ही IPS के Exam को पास करतें हुए तथा इसकी कठिन Training से गुजरतें हुए अपनें IPS बननें के सपनें को पूरा कर पाते हैं।

हर साल काफ़ी युवा IPS बननें की दौड़ में शामिल होतें हैं। लेकिन IPS बननें का सफ़र काफ़ी परिश्रम और लगन से भरा हुआ होता हैं। ऐसे में अगर आप भी एक IPS Officer बनना चाहतें है तो आप सबसे पहले IPS बननें के पूरे तरीके को जरूर जान लें। आईपीएस ऑफिसर (IPS officer) कैसे बने – How to became IPS officer information in Hindi.

IPS क्या है?

दोस्तों सबसे पहले तो आपको ये बता दे कि IPS का Fullform हैं “INDIAN POLICE SERVICE”,

आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) का चयन हर साल भारत सरकार UPSC द्वारा संचालित CSE (civil services exams) परीक्षा के द्वारा करती हैं। हर साल लाखों Candidate, UPSC की इस परीक्षा में शामिल होतें है, लेकिन उनमें से मात्र 200 Candidate का चयन ही भारत सरकार के इस बेहद सम्मान वाले पद के लिए होता हैं।

ये भी जाने – Polytechnic कैसे करे?

IPS Officer बननें के लिए इसके Candidate साल भर तथा कई बार उससे भी ज्यादा समय तक कठिन परिश्रम करतें हैं।

IPS Officer बनने के लिए requirement?

UPSC द्वारा संचालित Civil Services Exam में बैठने के लिए Candidate का किसी भी Subject से Graduate होना आवश्यक हैं। अतः अगर आप एक IPS Officer बनना चाहतें है तो सबसे पहले आप अपना Graduation पूरा करें। बिना Graduation के आप इसकी परीक्षा नहीं दे सकते।

शैक्षिक योग्यता के अलावा भी आईपीएस ऑफिसर (IPS officer) बननें के लिए Candidate में कुछ और योग्यताएं भी होनीं चाहिए, जो कि नीचे लिखे है-

  1. आपका भारतीय होना आवश्यक है। भारत के अलावा नेपाल और भूटान के निवासी भी IPS के Exam में बैठ सकतें हैं।
  2. आपकी उम्र 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच होनीं चाहिए। OBC तथा SC/ST Candidate के लिए इस उम्र सीमा में क्रमशः 3 साल तथा 5 साल की छूट है।
  3. General तथा OBC Candidate इस Exam में सिर्फ़ 4 बार ही बैठ सकतें हैं। वहीं SC/ST Candidate के लिए इसमें पूरी छूट हैं। वो इस Exam में असीमित बार Appear हो सकतें हैं।

अगर आप इन सभी योग्यताओं में फ़िट बैठतें है तभी आप एक IPS Officer बननें की राह में अपना कदम आगे बढ़ा सकतें हैं।

आईपीएस अफसर बनने के लिए शारीरिक योगयता (Physical requirement)

आईपीएस बनने के लिए कुछ ज़रूरी physical requirement को पूरा करना होता है जो की इस प्रकार है:-

  • Male (पुरुष) – कम से कम 84 cm का chest (सीना) होना चाहिए. पुरुष के लिए लिए कम से कम 165 cm का height (लम्बाई) होना चाहिए. SC /ST के लिए कम से कम height 160 cm तो होना चाहिए.
  • Femal (महिला) – महिलाओ की chest कम से कम 79 cm होनी चाहिए. इसके साथ ही height कम से कम 150 cm होनी चाहिए general category के लिए. SC/ST की महिलाओ के लिए height कम से कम 145 cm होनी चाहिए.
  • eye sight – ठीक आँखों के लिए विज़न (Vision) 6 /6 या 6 /9 होना चाहिए और weak आँखों के लिए 6 /12 या 6 /9 होना चाहिए.

आईपीएस ऑफिसर (IPS officer) कैसे बने की पूरी जानकारी

तो जानतें है कि IPS Officer बनने के लिए कौन कौन exam पास करने ज़रूरी है जानते है detail में।

बारवीं ( 12 ) पास करे

सबसे पहले को 12Th क्लास पास होना ज़रूरी है. आप 12th किसी भी subject में कर सकते है. Science , Commerece या arts में से किसी से भी 12th pass कर ले.

Guaduation पूरा करे

IPS अफसर बनने के लिए graduate होना बहुत ज़रूरी है. किसी भी subject में graduation पास करे.

UPSC एग्जाम के लिए apply करे

UPSC के लिए आप अपनी gradaution के आखरी साल में या graduation पूरा होने पर दे सकते है.
UPSC एग्जाम से आप IAS , IPS या IRS जैसे एग्जाम दे सकते है.
UPSC में अप्लाई करने के बाद आपको 3 exam देने होंगे.

  • Preliminary exam
  • The Main exam
  • Interview
  • Training

Preliminary Exam-

आईपीएस (IPS) बननें के सफ़र में जो पहली परीक्षा आपको पास करनी होती है उसे Prelimainary Exam कहतें है। साधारण भाषा मे इसे Pre-Exam भी कहतें हैं। ये Exam Objective Questions का होता है।

हर साल अक्टूबर माह में होने वाली आईपीएस (IPS) इस Pre Exam में 200 Marks के 2 Paper Candidate को देनें होतें हैं। Multiple Choice Question वाले इस Exam के पहले Paper में Candidate से General Knowledge के सवाल पूछे जातें है। इस Paper को Solve करनें के लिए Candidate को 2 घण्टे का समय दिया जाता है।

ये भी जाने GST क्या है?

Pre-Exam के दूसरे Paper में Candidate से Reasoning तथा तार्किक शक्ति से जुड़े सवाल पूछें जाते हैं। इस Paper को भी हल करने के लिए Candidate को 2 घण्टे का समय दिया जाता है।

हर साल लगभग 2 लाख से भी अधिक लोग आईपीएस (IPS) के इस Pre-Exam में बैठतें है जिनमें से कुछ 1000-2000 ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं।

आईपीएस (IPS) बननें के लिए Candidate को सबसें पहले ये Pre-Exam पास करना होता है। Pre-Exam को पास करनें वाले Candidate को इसके Main Exam में शामिल होने के लिए बुलाया जाता हैं। वहीं जो Candidate इसे पास नहीं कर पाते उनका सफ़र यहीं खत्म हो जाता है और उन्हें फिर से Pre-Exam में पास होने का इंतज़ार करना पड़ता हैं।

Main Exam –

आईपीएस (IPS) के Priliminary Exam को पास करनें वाले Candidate को अब ये Main Exam पास करना होता हैं।

IPS का Main Exam दो चरण का होता है।

  1. Written Exam
  2. Interview

Written Exam में Candidate को कुल 9 पेपर देनें होते हैं। इन 9 Paper में 2 Paper Language के होतें है तथा 7 Paper General Study के अलग-अलग Field के होतें हैं। इन 7 पेपरों में 2 पेपर का चुनाव Candidate को खुद अपने Graduation के Subject के अनुसार करना होता है।

Language Knowledge वाले 2 पेपरों में English Language का पेपर सभी के लिए अनिवार्य होता है तथा Candidate को किसी एक भारतीय भाषा का चुनाव दूसरे Paper के लिए खुद ही करना होता है।

ये भी जाने – प्रधानमंत्री आवास योजना

Main Exam के पहले चरण का ये Written Exam कुल 1750 अंको का होता है। इस Exam को देने वाले सभी Candidate में से सफल Candidate का चुनाव Merit के आधार पर किया जाता है। इस Written Exam को Clear करनें वाले Candidate को अब अगले चरण यानी कि Interview के लिए बुलाया जाता है।

IPS Exam का Interview 275 अंकों का होता है। Interview तथा Written Exam के अंकों की Merit के अनुसार ही अंतिम रूप से सफल Candidate की घोषणा की जाती है।

Training

Pre-Exam, Main Exam तथा Interview को पास करनें के बाद Candidate को IPS की ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है। इस Training में भावी IPS Officers को Physical Training के साथ ही Indian Constitution तथा अन्य नियमों के बारें में भी बताया जाता है। 1 साल तक चलने वाली आईपीएस (IPS) की ये ट्रेनिंग हैदराबाद में होती है।

1 साल की Training के बाद इन IPS Officers को भारत के विभिन्न शहरों में सुरक्षा तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए तैनात किया जाता हैं।

ये भी जाने – AADHAR CARD की जानकारी?

एक IPS Officer का काम काफ़ी ज़िम्मेदारी वाला तथा जवाबदेह होता है। हर कोई व्यक्ति इस कार्य को नहीं कर सकता इसीलिए पूरे भारत मे से कुछ चुनिंदा लोगों को ही इस पद पर पहुँचने का गौरव प्राप्त होता है।

Conclusion

दोस्तों आज हमनें आपको भारतीय पुलिस के शीर्षतम पदों में से एक आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) बननें के Step तथा उसके बारे में अन्य जानकरीं दी। आशा करतें है कि आपको यहाँ दी गयी सभी जानकारी काफ़ी पसंद आयी होगी। इस विषय से जुड़े अगर कुछ सवाल या सलाह आपके पास हो तो हमें Comment Box में लिखकर जरूर बताएं। इसके साथ ही आप इस जानकरीं को अपने जानने वालों के साथ जरूर Share करें।

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

One Response

  1. Thakur Aman Singh September 22, 2018

Leave a Reply

error: