IIT full form in Hindi – IIT क्या है?

IIT meaning – Indian Institute of technology

यूं तो इंजीनियरिंग किसी भी निजी कालेज से की जा सकती है, लेकिन आपने देखा होगा कि ज्यादातर बच्‍चे IIT ही करने के इच्छुक होते हैं।  IIT की प्रतिष्ठा ऐसी है कि इसका जबरदस्त क्रेज है। छात्र इसकी मुश्किल परीक्षा पास करने के लिए जी-जान लड़ा देते हैं। घर से दूर रहकर महीनों पढ़ाई करते हैं, कोचिंग लेते हैं, तब कही जाकर सेलेक्‍शन होता है। कई बार तो सेलेक्‍शन हो भी नहीं पाता। राजस्‍थान में कोटा का नाम तो महज कोचिंग के लिए ही बहुत मशहूर हो गया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि  IIT क्या है? नहीं, तो आज हम आपको बताएंगे आईआईटी यानी  IIT  की फुल फार्म और इससे जुड़े विभिन्न पहलुओं की जानकारी –

IIT full form in Hindi

IIT की फुल फार्म है – Indian Institute of technology

IIT in Hindi – इंडियन इंस्‍टीट्यूट आफ टेक्‍नोलाजी।

इसे हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान ही पुकारा जाता है। IIT की स्थापना खड़गपुर में 1951 में हुई थी।  यानी इसे स्‍थापित हुए करीब सत्तर साल होने को है।

IIT exam की जानकारी

IITकी परीक्षा ग्रेजुएट लेवल पर प्रवेश के लिए ली जाती है। परीक्षा बेहद मुश्किल मानी जाती है। आईआईटी परीक्षा 2 स्तर पर ली जाती है। पहला मुख्य परीक्षा, जबकि दूसरी एडवांस परीक्षा। आईआईटी प्रवेश परीक्षा के लिए पहले मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन किया जाता है। इसे पास करने के बाद ही एडवांस लेवल एग्जाम के लिए बैठा जा सकता है। यह परीक्षा ग्रेजुएट लेवल की पढ़ाई के लिए होती है।

ये भी जाने –

IIT एग्जाम के लिए eligibility

IITप्रवेश परीक्षा में शिरकत करने के लिए छात्रों को 12वीं पास होना जरूरी है, वह भी 60 प्रतिशत अंकों के साथ। इसमें भौतिकी (Physics), रसायन विज्ञान (Chemistry), गणित (Maths) की परीक्षा होती है। छात्रों को इसमें पास होने के लिए 11वीं और 12वीं कक्षा की भौतिकी, रसायन और मैथ्स यानी गणित की तैयारी करनी होगी।

IIT exam की तयारी कैसे करे?

IIT जैसी परीक्षा में पर्याप्त तैयारी और कोचिंग से ही निकला जा सकता है। इसमें निकलने के लिए टाइम मैनेजमेंट भी बेहद जरूरी है। मसलन आपको सारे प्रश्न आते हैं, लेकिन आप उन सबको समय पर हल नहीं कर पाते, तो यह किसी मतलब का नहीं। प्रैक्टिस के दौरान टाइम मैनेजमेंट का ध्यान रखा जाना चाहिए। टाइम टेबल बनाकर परीक्षा के पैटर्न  के मुताबिक तैयारी करनी चाहिए। इसका सबसे अच्छा तरीका है, पुराने पेपर हल करना। अगर आप इसकी कोचिंग करते हैं तो आपको और भी मदद मिलती है। वहां आपको विषय संबंधी समस्याओं का समाधान तुरंत मिल सकता है। आईआईटी में छात्रों को न केवल इंजीनियरिंग पढ़ाई जाती है, बल्कि वह मैनेजमेंट, सोशल स्किल आदि भी सीखते हैं। नौकरी तो कैंपस प्लेसमेंट के दौरान ही तय हो जाती है। यही वजह है कि बजाय यूं ही किसी भी इंजीनियरिंग कालेज से पढ़ाई करने की जगह छात्र आईआईटी करना चाहते हैं। समाज में तो आईआईटी की प्रतिष्ठा है ही।

IIT कहाँ कहाँ है?

भारत में कुल 23 IIT हैं। जो इन स्‍थानों पर स्थित हैं-खड्गपुर,  कानपुर, दिल्ली, मुंबई, गुवाहाटी, रुड़की, रोपड़, भुवनेश्वर, गांधीनगर, हैदराबाद, जोधपुर, पटना, इंदौर, मंडी, वाराणसी, पलक्कड़, तिरुपति, धनबाद,  भिलाई, गोवा, जम्मू, धारवाड़।

ये भी जाने –

IIT पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना की IIT क्या है और IIT full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: