GPS full form in Hindi – GPS क्या है कैसे काम करता है?

GPS full form and uses – अगर GPS सिस्टम को Science और Technology का एक अनमोल उपहार कहा जाए तो कहीं से ग़लत नहीं होगा। Science की इस अनमोल खोज़ की बदौलत आज हमें कहीं पर भी पहुँचने के लिए किसी से भी रास्ता पूछने की जरूरत नहीं हैं। GPS सिस्टम के द्वारा हम आसानी से दुनिया के किसी भी कोने में बिना किसी से रास्ता पूछे पहुँच सकतें हैं।

दोस्तो आप सभी ने कभी ना कभी अपने Smartphone में मौजूद GPS सिस्टम का Use किया ही होगा। लेकिन हम ये बात पूरे विश्वास के साथ कह सकते हैं किआपमें से बहुत कम लोग ही GPS का फुलफॉर्म तथा इससे जुड़ी अन्य जानकारियों के बारे में जानते होंगे। इसीलिए आज हम आपको GPS के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

इस क्रम में आइये सबसे पहले जान लेते हैं की GPS का फुलफॉर्म क्या होता है?

GPS full form in Hindi?

आज हम जानेगे Gps full form हिंदी में.

Gps full form

GPS का फुलफॉर्म – Globel Positioning System

Full form of GPS in Hindi – ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम

अगर इसके फुलफॉर्म के Meaning को हिंदी भाषा मे समझने की कोशिश करें तो इसका हिंदी में अर्थ होगा- “वैश्विक स्थिति व्यवस्था।”

इसे आसान भाषा मे इस तरह से समझा जा सकता है कि किसी भी Place या चीज़ की किसी Particuler Place के अनुसार क्या स्थिति है। अर्थात उस Particuler Place के अनुसार दूसरा Place किस Direction में तथा कितनी दूरी पर है।

GPS की History

अगर बात की जाए GPS के इतिहास की तो आपको बता दे कि GPS की खोज अमेरिका द्वारा सन 1960 में किया गया था। अमेरिका के Defence Department ने अपने देश की सुरक्षा को और दुरुस्त करनें के लिए GPS सिस्टम की खोज की थी। उस समय अमेरिकी Army के अलावा किसी और को GPS सिस्टम का Use करनें की Permisson नहीं थी। अमेरिकी सेना GPS का उपयोग दुश्मन के ठिकानों का पता लगाने के साथ ही उनकी दूरी का भी पता लगाने के लिए करती थी।

अमेरिकी सेना ने मुख्य रूप से नेवी मिसाइलों को ले जाने वाली अमेरिकी पनडुब्बियों को Track करनें के लिए GPS System को पहली बार Use में लाया था। उस समय GPS System का Use अमेरिकी सेना के अलावा और कोई नहीं कर सकता था।

ये भी जाने – EWS क्या है?

साल 1995 के बाद से GPS को आम लोगो के इस्तेमाल के लिए भी उपलब्ध करवाया गया। इसके बाद ही दुनिया के अन्य देशों द्वारा GPS System का Use किया जाने लगा। आज के समय मे GPS System से कोई भी व्यक्ति अछूता नहीं हैं। चाहे बात हो किसी स्थान की अपने पास से दूरी पता करनें की, या फिर अपने Vehicle को Track करनें की, आज हम GPS System की ही बदौलत इन असंभव से लगने वाले काम को आसानी से कर सकते हैं। ये GPS System की ही देन है जिसके कारण हम अपने आस-पास स्थित Hotels, Restrorent, Hospital, Market आदि का पता आसानी से अपने Smartphone द्वारा ही लगा लेते हैं।

GPS सिस्टम के बारे में हमने इतना तो जान लिया कि इसकी खोज़ अमेरिका द्वारा की गयी थी और इसका Use हम किसी भी प्लस की Location जानने के लिए कर सकते है। अब आइये आपको बताते है कि आख़िर GPS System काम कैसे करता है।

कैसे काम करता है GPS System?

GPS System के काम करने के पीछे मुख्यतः दो important पार्ट होते है। पहला सेटेलाईट और दूसरा रिसीवर।

Setellite अंतरिक्ष मे स्थापित किया गया है। आज भी पूरी दुनिया मे काम करने वाले GPS System का Setellite अमेरिका के द्वारा ही Control किया जाता है। पृथ्वी से लगभग 26,600 किमी की ऊँचाई पर स्थित इस Setellite का उपयोग हर कोई अपने रिसीवर द्वारा Signal रिसीव करने के लिए करता है।

GPS System का दूसरा Important Part जिसे रिसीवर कहते हैं, वो एक छोटा सा यंत्र होता है जो कि हम सभी के Smartphone में या फिर GPS System में लगा होता है।

ये भी जाने – BMW कार की फुल फॉर्म क्या है?

अंतरिक्ष मे स्थित Setellite पृथ्वी 24×7 Signals भेजता रहता है। जब हम किसी Place की Location अपने स्थान से जानना चाहते हैं तो हमारे Device में लगे रिसीवर और उस Place या Location पर लगे रिसीवर द्वारा Setellite के सिग्नल रिसीव करने में लगे Time के अनुसार उसकी Distence माप ली जाती है।

दरअसल GPS System डॉप्लर इफ़ेक्ट के आधार पर काम करता है। इसके अनुसार अंतरिक्ष मे स्थित Setellite द्वारा भेजे गए Signals को रिसीवर तक पहुँचने में लगे समय के अनुसार उसके Distence की गड़ना की जाती है। बेहतर Result देने के लिए रिसीवर 4 Setellite के Signal का Use लोकेशन बताने के लिए करता है।

GPS System के फ़ायदें-

आज के समय में GPS System का Use ना सिर्फ़ सुरक्षा संबंधी गंभीर मामलों में बल्कि आम लोगो द्वारा भी Location का पता लगाए जाने के लिए किया जा रहा है। वैसे तो GPS की खोज सिर्फ़ डिफेंस के Purpose से किया गया था। लेकिन आज के समय मे इसका Use सिर्फ़ सुरक्षा के लिए ही सीमित नहीं रह गया है। आज हम GPS का उपयोग किसी स्थान पर पहुँचने के लिए रास्ता ढूंढने से लेकर अपने आस-पास के स्थानों का भी पता लगाने के लिए करते हैं।

ये भी जाने – DGP का फुल फॉर्म और DGP के काम?

हम अपने Vehicle में GPS सिस्टम लगा कर उसे घर बैठे अपने Smartphone द्वारा Track कर सकते हैं। हम दुनियां के किसी भी कोने में खड़े होकर, आस-पास के Restorent Hotels, Hospital और अन्य Important Place की स्थिति तथा उसकी दूरी पता कर सकते हैं। GPS सिस्टम का Use हम रास्ता भटकने पर, सही रास्ते का पता लगाने में भी कर सकते हैं।

इस पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना की GPS की है, कैसे काम करता है, इसकी History और GPS full form. अगर आपके मन में कोई सवाल है तो comment में ज़रूर पूछे और हमे बताये की आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी?

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: