GNM full form – GNM का काम क्या है?

GNM की फुल फार्म है – General Nurse Midwifery

क्या आपको भी डाक्टरों की तरफ सफेद कोट डाल मरीजों की देख-रेख करने का शौक है, लेकिन आप बहुत साल पढ़ाई नहीं करना चाहते और न ही आपकी जेब इसकी इजाजत देती है तो नर्स के रूप में अपने सपनों को आयाम दे सकते हैं। जनरल नर्स मिडवाइफरी (जीएनएम) का कोर्स ऐसा ही कोर्स है। जो बहुत महंगा नहीं और आसानी से नौकरी भी उपलब्‍ध है। क्या कहा? आपको जीएनएम के बारे में जानकारी नहीं? तो आज हम आपको बताएंगे कि जीएनएम यानी GNM आखिर क्या है? यह आपके लिए कैसे लाभदायक है। तो जरा गौर से पढ़िए नीचे लिखी बातों को-

GNM full form in Hindi

GNM की फुल फार्म है – General Nurse Midwifery

GNM meaning in Hindi – जनरल नर्स मिडवाइफरी।

यह सामान्य पोषण और दाई के कार्य से जुड़ा एक डिप्लोमा कोर्स है।

GNM course की duration कितनी है?

GNM का कोर्स तीन साल का है। यह सामान्य स्वास्‍थ्य देखभाल, नर्सिंग और दाई के कामसे जुड़ा है। कोर्स का मकसद नर्स तैयार करना है, जो स्वास्‍थ्य टीम के सदस्य के रूप में काम कर सकें। इसके बाद किसी कालेज से नर्सिंग में ग्रेजुएट भी किया जा सकता है। इसे लड़की या लड़का कोई भी कर सकता है। इसे करने के बाद किसी भी अस्पताल में नौकरी की जा सकती है। सरकारी नौकरी के लिए भी आवेदन किया जा सकता है।

ये भी जाने

GNM course के लिए eligibility कितनी होनी चाहिए?

GNM का कोर्स करने के लिए अभ्यर्थी की उम्र 17 से 35 साल के बीच होनी चाहिए। साथ ही 12वीं कक्षा न्यूनतम 45 प्रतिशत अंकों के साथ पास की हो। विषय भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान लिए हों। अंग्रेजी में न्यूनतम 40 अंक होने आवश्यक हैं। अभ्यर्थी को मेडिकली फिट भी होना चाहिए।

GNM course की जानकारी

पहले साल के सिलेबस में जैविक विज्ञान, शरीर रचना विज्ञान, कीटाणु विज्ञान, व्यावहारिक विज्ञान, मनोविज्ञान, नागरिक शास्‍त्र, नर्सिंग की बुनियादी बातें, प्राथमिक चिकित्सा, व्यक्ति स्वच्छता, सामुदायकि स्वास्थ्य, नर्सिंग-1 पर्यावरण स्वच्छता, स्वास्‍थ्य शिक्षा अघैर संचार कौशल, पोषण और अंग्रेजी शामिल है।

दूसरे साल के सिलेबस में मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग, औषध, मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग II (स्पेशलिटीज) संचारी रोग, आर्थोपेडिक नर्सिंग, कान, नाक और गला कैंसर विज्ञान / त्वचा ऑप्थैल्मिक नर्सिंग, मानसिक स्वास्थ्य और मनोरोग नर्सिंग, सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग और कंप्यूटर शिक्षा शुमार हैं। तीसरे साल के सिलेबस में मिडवाइफरी और गायनोकोलॉजी नर्सिंग, सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग- II, बाल चिकित्सा नर्सिंग शुमार है। इसके अलावा इंटर्नशिप अवधि के दौरान व्यवाहारिक ज्ञान दिया जाता है।

ये भी जाने

GNM पोस्ट पर हमारी राय

GNM का कोर्स करने में हालांकि छात्राएं ज्यादा दिलचस्पी दिखाती हैं। मेडिकल क्षेत्र में जाने की इच्छुक और 12वीं के बाद उच्च शिक्षा की जगह रोजगारोन्मुख कोर्स करना चाहने वाली छात्राएं खास तौर पर GNM में स्कोप देख यह करने में इंटरेस्ट रखती हैं। उनका स्वभाव भी दूसरों की देख-रेख करने वाला होता है। इस प्रोफेशन में यह चीज उनके सबसे ज्यादा काम आने वाली होती है। उनका बातचीत का तरीका भी इस तरह का होता है कि वह इस प्रोफेशन में ज्यादा कामयाब होती हैं।

इस पोस्ट में हम ने जाना GNM क्या है, GNM के काम, course duration eligibilty और GNM full form in Hindi के बारे में. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: