Error 404 Page not Found क्या है Custom Redirect कैसे Set करे?

Error 404 Page not Found क्या है – कई ब्लॉगर्स published किए गए post या page को delete करने के विषय मे भी अक्सर पूछते है। Error 404 Page not Found की मुख्य वजह भी इससे जुड़ी है तो किसी भी webpage को डिलीट करने से पहले इसे अच्छी तरह से समझ लेना आवश्यक हो जाता है। तो जानते है की Error 404 Page not Found क्या है.

इस complete article मे हमने नीचे दिखाये points को सरल शब्दो मे cover करने का प्रयास किया है।

  • 404 error की मुख्य वजह
  • Error pages का SEO मे असर
  • Error 404 के लिए सही tips
  • 302 Custom Redirect
  • 301 Custom Redirect
  • 301 Redirect Tips
  • Misusing the Remove URLs tool
  • Unexpected 404 errors (जिसे ब्लॉग मे तलाशा नहीं जा सकता)

404 Page not found error क्या है?

Error 404 Page not Found क्या है aur इसे कैसे हटाए?

Error 404 Page not Found क्या है

यह एक HTTP standard response code है, जब Google crawlers bot किसी भी webpage या homepage की visit करता है तब वह उस page की links को follow कर दूसरे pages तक पहोंचता है। Links को फॉलो कर रहे Googlebot को जब कोई ऐसा page मिलता है जो वास्तव मे मौजूद ही नहीं होता तब page की इस error को 404 page not found error कहा जाता है।

जब आप पोस्ट को लिखकर published कर देते है तो वह पोस्ट कुछ समय मे search results मे अपना स्थान secured कर लेती है। बाद मे आपको अगर किसी वजह से उस पोस्ट को delete करना पड़े तब भी पोस्ट की link search result मे दिखाई देती है और visitors इस पोस्ट की लिंक को क्लिक करते है तो उसे पोस्ट contents की जगह error page दिखता है।

Broken links की मुख्य वजह है webpage को बिना redirect किए delete कर देना और दूसरी वजह है link के URL को टाइप करते समय स्पेलिंग मिस्टेक कर देना।

क्या 404 error से SEO या Organic Ranking मे कोई negative असर हो सकता है?

वैसे तो Google का official answer कहता है की ‘आपकी website मे 404 error pages होने से आपके grade या ranking मे कोई फरक नहीं होगा। हम इसे safely ignore (अनदेखा) कर देंगे’ मगर हकीकत ये भी है की, इस ERROR से indirectly थोड़ा नुकसान होता ही है।

404 error page का page rank almost zero होता है। आप जब भी कोई पोस्ट लिखते है तो interlinking के जरिये आपकी अन्य posts को भी इसमे शामिल करते है। इस तरह से आपके ब्लॉग या वैबसाइट की सभी पोस्ट एकदूसरे से जुड़ी होती है। For example यदि आपकी पोस्ट “Blogging किस टॉपिक पर करे?” को अन्य 100 post मे link किया गया है तो यह संख्या इस पोस्ट का internal value हो जाता है। अगर आप इस page को delete कर देते है तो यह page 404 error मे परिवर्तित हो जाता है और इसकी वैल्यू zero हो जाती है तथा जिस 100 pages ने इस delete की गयी पोस्ट को link किया है उन सभी pages का link juice जैसे ब्लैक होल मे समा जाता है।

अगर आपकी  पोस्ट को किसी external sites मे link किया गया है तो उन सभी sites का link juice आपके ब्लॉग को नहीं मिलेगा क्योकि, delete हो चुकी पोस्ट मे कोई internal links नहीं होती जिसके माध्यम से link juice pass हो सके।

अगर आपकी delete की गयी पोस्ट को रोजाना 200 विजिटर्स मिल रहे थे तो इन 200 विजिटर्स का लाभ उस पोस्ट की internal links के जरिये आपकी अन्य posts को भी मिलता होगा। इस तरह पोस्ट डिलीट करने से आपके ब्लॉग की अन्य पोस्ट के PageViews मे indirectly नुकसान होना निश्चित है।

Error 404 Page not Found के लिए सही planning क्या होनी चाहिए?

There is no need to worry: सबसे पहली बात आपको 404 error से डरने की जरूरत नहीं है। Internet मे रोजाना लाखो नए contents का जन्म होता है तो असंख्य पुराने contents delete होते है और ऐसे contents 404 मे परिवर्तित हो जाते है।

यह internet की दुनिया का एक cycle है। इसकी वजह से Google आपके ब्लॉग मे कोई भी penalty लागू नहीं करेगा। हमे सिर्फ इससे होने वाले indirectly नुकसान को कम करना है जो बिलकुल आसान है।

Create Custom 404 Error Page

सबसे पहली tip, आपके ब्लॉग का custom 404 error page होना चाहिए और इसमे कम से कम आपके homepage की एक link तो होनी ही चाहिए। इस page मे 404 और error जैसे भयानक लगने वाले शब्दो का प्रयोग ना करे, इसके स्थान पर आप “Sorry, we couldn’t find the page you were looking for” जैसे soft words को use कर सकते है।

Error page को interesting बनाने से visitors को आपके ब्लॉग को देखने का आकर्षण हो सकता है और वह homepage की link को click कर सकते है। हो सके तो इस पेज मे logical image को जरूर add करे जो आपके visitors को impress कर सके।

Fix a Typo Errors

अपने ब्लॉग के error pages की वजह तलाश करे, अगर आपने link के URL को टाइपिंग करने में गलती की है तो उसे तुरंत सुधार ले। Blog के 404 not found pages की जानकारी आपको Google के Search Console मे आपके blog account को open करने से मिल सकती है। Search console के dashboard के under मे Crawl > Crawl Error मे जाने से आप ब्लॉग के not found pages के address को देख सकते है। Address को क्लिक करने से Error details तथा Linked from के दो options देखने को मिलेंगे।

ये भी जाने – Privacy Policy Page कैसे बनाए?

अगर आपने कोई पोस्ट मे internal link को add करते समय spelling मे भूल की है तो वह कोनसा page है जिसमे आपसे भूल हुई है, यह जानकारी आपको यहा Linked from को क्लिक करने से मिल जाती है।

Implement a 301 redirect

यह सबसे important है इस ऑप्शन को लागू करने के बाद जब कोई आपकी मौजूद न होने वाली पोस्ट की link को click करता है तब वह error page की जगह ब्लॉग की अन्य पोस्ट तक पहुँच जाता है। अगर आपकी दूसरी पोस्ट relevant है तो विजिटर्स को पता भी नहीं चलता की उसे original पोस्ट की जगह अन्य पोस्ट पर भेज दिया गया है।

Google bots भी 404 से ज्यादा custom redirect को पसंद करते है। Blogger aur wordpress Blogs मे 301 redirect को आसानी से applied किया जा सकता है।

Custom Redirect कैसे के फायदे

URL को redirect करने से पहले यह जान लेना ज़रूरी है की यहाँ दो तरह के redirects होते है।

1. 302 Redirect:

मतलब पोस्ट या page को temporarily move करना। इस redirect को तब लागू करना उचित है जब आप किसी webpage को renovate कर रहे है और टेम्पररी इसे visitors से छुपाना चाहते है।

302 Redirect Search Engine Optimization के हिसाब से poor चॉइस है क्यू की search bots इसे temporary समजते है और आरिजिनल page का ranking power इसे नहीं देते। SEO के हिसाब से बेस्ट चॉइस है 301 redirect।

2. 301 Redirect:

मतलब page को नए लोकेशन पर permanently (स्थायी रूप से) move कर देना। इसका use तब होता है जब कोई अपने webpage को डिलीट कर चुका है और विजिटर्स एवम bots को error page नहीं दिखाना चाहता।

SEO के लिए हम इस redirect की सिफ़ारिश कर सकते है क्योकि यह link juice यानि ranking power को नए page मे pass करता है। यहा पर हमारा मतलब यह नहीं है की आप बिना किसी ठोस वजह के अपने पुराने pages को delete कर दे, यकीनन 301 redirect best ऑप्शन है फिर भी page को delete कर देना ठीक नहीं है।

अगर आपकी किसी पोस्ट के contents (सामग्री) expired हो चुके है और आप पोस्ट को फिर से नए fresh contents के साथ लिखना चाहते है तब भी आपको पुरानी पोस्ट को डिलीट करना नहीं चाहिए। बहेतर है आप पहले नयी पोस्ट लिखे और बादमे expired contents वाली पोस्ट को edit करे और इसमे सबसे ऊपर “इस पोस्ट को अपडेट किया गया है, कृपिया updated सामग्री के लिए यहा देखे” लिखकर नए पोस्ट की लिंक add कर दे।

Google 301 redirect को पसंद करता है मगर page relevancy को ध्यान मे रखना आवश्यक है, यह चर्चा हम बाद मे करेंगे, पहले देख लेते है की इस redirect को कैसे किया जाता है।

क्या Google सभी 301 redirect को पसंद करता है?

Delete कर दिये गए page को नए page से redirect कर देने से पहले हमे कुछ चीजों को समझ लेना चाहिए। खासकर यदि आप चाहते है की आपके नए page को योग्य SEO क्रेडिट मिले तो नीचे दिए गए points को ध्यान मे लेना ज़रूरी हो जाता है।

Google की नजर मे एक perfect 301 redirect का मतलब है आपकी पोस्ट सामग्री का address change होना। मतलब जहा तक हो सके पुरानी अथवा डिलीट हो चुकी पोस्ट की सामग्री जैसे title tag, images etc को नयी पोस्ट मे दिखाना।

आप पुरानी पोस्ट के expired contents को नए updated contents से अवश्य replace करे मगर पोस्ट का main topic change नहीं होना चाहिए। इसे पोस्ट content relevancy कहते है और इसको ध्यान मे रखकर किए गए redirect से almost 85 percent page rank नए page को मिल जाता है।

ये भी जाने –Blogging सही तरह से कैसे करे?

For example आपके old page का topic ‘Flower’ था और आप इस page को ‘Rose’ के विषय से related page से redirect करते है तो यह समझ मे आता है मगर, यदि आप इसे ‘Books’ के page से redirect करते है तो यह ठीक नहीं है।

Tips for Custom Redirect

किसी भी पोस्ट को डिलीट करने से पहले एक बार अच्छी तरह से सोच ले और, अगर पोस्ट को डिलीट ही करना पड़े तो पहले redirect के लिए अपने ब्लॉग की कोई related पोस्ट को चुन ले या नयी पोस्ट को लिख ले।

हमारा सुझाव है की अगर आपके blog मे डिलीट की गयी पोस्ट से related दूसरी पोस्ट नहीं है और आप इस विषय की नयी पोस्ट बनाना नहीं चाहते तो इसे redirect ना करे। इस condition मे यह पोस्ट Error 404 Page not Found मे change हो जाएगी तथा Google समझ जाएगा की आपने इसे किसी वजह से delete कर दिया है। Google को ऐसे  not found page से कोई problem नहीं होगी। जहा तक हो सके पोस्ट को homepage के साथ redirect ना करे।

Irrelevant redirect के लिए कोई penalty तो नहीं होगी मगर modern search engines इसे पसंद भी नहीं करेंगे और इस page को कभी भी बढ़िया grade प्राप्त नहीं होगा।

कई bloggers बताते है की delete हो चुके page को अगर आप redirect करना नहीं चाहते है तो इसके URL को Search Console के URL removal मे डालकर search results मे से हटा दे। ये कभी न करे । Remove URLs tool ऐसे 404 not found pages को remove करने के लिए नहीं है। Google ने साफ़ शब्दो मे कहा है की इस tool का गलत इस्तेमाल करने से आपके ब्लॉग को दंडित किया जा सकता है।

अगर आपने गलती से कोई पर्सनल information या confidential data को ऑनलाइन उजागर कर दिया है और आप इस गलती को सुधारना चाहते है तो अवश्य इस tool का इस्तेमाल करे।

Unexpected 404 errors क्या है?

कुछ 404 error एसी होती है जो हमारी गलती की वजह से नहीं मगर JavaScript की वजह से आ सकती है जिस पर हमारा control नहीं होता। इसका ये मतलब भी नहीं है की theme मे add की गयी script corrupt है।

यदि आपको search console मे एसी errors नजर आती है तो आपको इसे simply ignore कर देना है। क्योकि जिस URL से related page का अस्तित्व ही नहीं था और है भी नहीं इससे हमे कोई नुकसान होने वाला नहीं है। हकीकत मे page not found को error कहना ही गलत है क्यो की यह एक common issue है जो लगभग हरेक website मे पाया जाता है। कुछ undefined URL की अनेक वजह हो सकती है यह script की वजह से भी हो सकती है.

Error 404 Page not Found क्या है पोस्ट पर हमारी राय

मेरे ख्याल से Error 404 Page not Found और Custom redirect के विषय मे इतना काफी है। हम आशा करते है की आपको यह जानकारी कुछ काम आएगी।
हमें comment में बताये की आपको हमारी पोस्ट Error 404 Page not Found क्या है कैसी लगी.
कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

2 Comments

  1. Sayan Jana August 25, 2018
    • Umair habib August 26, 2018

Leave a Reply

error: