Email id कैसे बनाए और email के फायदे जाने

Internet ने पूरी दुनिया को आज के समय में बढ़ने के लिए एकजुट किया है। इसकी शुरुआत काफ़ी पहले हो चुकी है। आज के समय में दुनियाभर के लोगों को जोड़ने का काम डिजिटल कम्युनिकेशन कर रहा है। E-mail भी इन्ही में से एक है तो जानते है Email id kaise Banaye?

E-mail word से हमारा मतलब electronic mail से है  जिसका मतलब है डिजिटल रूप में information का लेन-देन करना। Email का इस्तेमाल हम तब करते हैं, जब हमें एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में संदेश(mail) भेजना होता है। E-mail फ़ैमिली, फ्रेंड्स  के साथ जुड़े रहने का सबसे अच्छा तरीका है।

E-mail डिजिटल युग में  E-communication के लिए सबसे ज़रूरी तरीकों में से एक है। आज के समय में हर जगह ईमेल का यूज़ किया जाता है, ऑनलाइन से लेकर ऑफलाइन वर्क तक सभी जगह इसका यूज़ किया जाता है। इसका इस्तेमाल सिर्फ़ संदेश लिखने के लिए ही नहीं बल्कि पर्सनल और ऑफिसियल दोनों तरह के बिज़नेस कामो के लिए किया जाता है।

E-mail तुरंत सन्देश(mail) भेजने की सुविधा देता है। जब आप अपने दोस्त को  E-mail भेजते हैं, तो वह अगले ही समय आपके दोस्त तक पहुँच जाता है। E-mail में texting के साथ साथ आप फोटोज़, ऑडियो, डाक्यूमेंट्स  भी शेयर कर सकते हैं। इसका यूज़ ज़्यादा से ज़्यादा professional एनवायरमेंट के लिए  भी किया जाता है।

तो जानते है की Email ID कैसे बनाए.

ईमेल(E-mail) ID कैसे बनाते हैं?

Email id kaise banaye और इसके फायदे.

Email id कैसे बनाए?

ईमेल Id बनाने के लिये हमें सबसे पहले email service provider चुनना होता है। Email अकाउंट बनाने के लिए gmail, Hotmail.com, mail.yahoo.com, Rediffmail.com जैसे सर्विस प्रोवाइडर सुविधा देते है। Google और yahoo जैसे सर्विस प्रोवाइडर फ्री Email सर्विस देते है, आप इनमे से किसी पर भी फ़्री email अकाउंट बना सकते हैं।

Example के लिए हम आपको Gmail पर ईमेल अकाउंट बनाने के बारे में बाताएंगे।

ये भी जाने –

Gmail पर Email अकाउंट (Email id) कैसे बनाते हैं?

Step – 1

सबसे पहले अपने कंप्यूटर या फिऱ स्मार्टफोन के browesr से accounts.google.com वेबसाइट को ओपन करें।

Step – 2

वेबसाइट खुलने के बाद Create account पर क्लिक करें।

email account खोने के लिए signup

Email account कैसे बनाए?

Step – 3

Create account पर क्लिक करते ही रजिस्टर करने के लिए एक फॉर्म खुलेगा। फॉर्म में दिए गए details जैसे Name, Date of birth, Gender, Username, Mobile No. , Address आदि को ठीक से भरें। ध्यान रहे कि आप जो available Username चुनेंगे , वही आपका Email address होगा। e.g. यदि आपका नाम Arpit singh है तो आप Username में singharpit123 या फ़िर इसी रूप में available Username का इस्तेमाल करें।

username के आगे @gmail.com लिखने पर वह आपका ईमेल address होगा। mobile no. फिल करने के बाद आपके फ़ोन पर OTP जायेगा, जिससे वह आपके mobile no. को verify करेगा।

Step – 4

Create password में आप अपनी इच्छा से कोई भी password डालें। confirm password में भी वही password डालें।

Step – 5

अब I Agree पर क्लिक करें। क्लिक करते ही एक pop-up window खुलेगा , जिसमे terms and conditions लिखी होंगी। आपको Agree पर क्लिक करना होगा।

Step – 6

अब continue to gmail पर क्लिक करें और अपने gmail account का इस्तेमाल शुरू करें।

E-mail(ईमेल) में इस्तेमाल किए जाने वाले terms

  • Cc – इसका मतलब carbon copy है। इस फील्ड से हमारा मतलब है कि इसे add करने पर उस ईमेल की एक कॉपी हमे और बाकी सभी रिसिवर को वह email address दिखाई देगा।
  • Bcc – इसका मतलब blind carbon copy है। ईमेल में इस फील्ड को add करने से Email की एक कॉपी हमे मिलेगी। लेकिन बाकी किसी रिसिवर को Email address दिखाई नहीं देगा।
  • Attachment – इससे आप किसी भी डॉक्यूमेंट फाइल या फ़िर फोटोज़ को attached करके शेयर कर सकते हैं।
  • Forward – इससे आप अपने inbox में सेव किसी भी ईमेल को किसी को भी भेज सकते हैं।
  • Inbox – Inbox में आपको दूसरे लोगों से भेजे हुए ईमेल stored हो जाते हैं। आप यहाँ से ख़ुद को मिले हुए सभी ईमेल access कर सकते हैं।
  • Outbox – इसमें आपके द्वारा भेजे गए ईमेल अगर रिसिवर तक नहीं पहुँचते तो आपका मेल outbox में store हो जाता है जहाँ से आप इसे re-send कर सकते हैं।
  • Draft – अगर आपने कोई ईमेल type किया और आप उसे बाद में भेजना चाहते हैं तो आप अपने ईमेल को draft में सेव कर सकते है। जिसे बाद में आप कभी भी send कर सकते हैं।

ये भी जाने –

Advantages of E-mail (E-mail के लाभ)

  1. Convenience – फ़ोनकॉल की तुलना में ईमेल से कम समय में अपनी बात दूसरे लोगों के सामने रख सकते हैं, और इससे काफ़ी समय की बचत हो जाती है। यह एकदम instant है।
  2. Record – E-mail हमारे द्वारा की गयी सभी communication और texting का एक रिकॉर्ड रखता है। जिसमे आपके सभी भेजे गए या फ़िर inbox में आए हुए सभी mails सुरक्षित रहते हैं।
  3. Unlimited Space – E-mail आपको बड़े स्तर पर Texting करने की फ़ायदा देता है। E-mail से आप अनलिमिटेड Texting कर सकते हैं।
  4. Attachment – E-mail, texting के साथ-साथ किसी भी टाइप के डॉक्यूमेंट अथवा फोटोज़ को attach करके शेयर करने की सुविधा देता है।
  5. Accessibility – अगर आप के पास internet है तो E-mail ki सुविधा कहीं से भी access की जा सकती है।

इस पोस्ट पर हमारी राय

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना की, E-mail क्या होता है? E-mail id कैसे बनाते हैं? , Gmail पर E-mail अकाउंट कैसे बनाया जाता है? इस आर्टिकल में E-mail के लिए के लिए किये जाने वाले terms की जानकारी दी गयी, साथ ही साथ E-mail के बिज़नेस के कामों में ज़रूरत बताई गयी।

हमे कमेंट में बताए की आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

2 Comments

  1. Thakur Aman Singh September 8, 2018
    • Umair habib September 8, 2018

Leave a Reply

error: