E-wallet या Digital wallet क्या है?

आपको जानना है E-Wallet क्या है?

पहले आप बताओ Paytm का मतलब क्या है?
इसकी फुल फॉर्म है pay through मोबाइल.

आपको नहीं पता था, हमे भी नहीं पता था !!
आइये इसी बारे में बात करते है

E-वॉलेट तो सालो से मौजूद है.
पर इसका असली इस्तेमाल demonatisation या नोटबंदी के वक़्त लोगो को पता चला.

सभी को पता है है की नोटेबंदी के वक़्त पैसो की कमी थी.
इसी कमी को E-wallet या paytm ने पूरा किया.

तो
चलिए जानते है की E-wallet क्या है और कैसे काम करता है.

E-wallet क्या है? (E-wallet in hindi)

ऑनलाइन पैसे भेजने से पहले ये जान ले की E-Wallet क्या है?

E-wallet या Digital wallet क्या है

तो, E-Wallet क्या है?
E-Wallet का मतलब है Electronic wallet.

नाम से ही समझ आता है की E-वॉलेट एक तरह का Wallet (बटुआ) है, जिस का इस्तेमाल digitally होता है.
आप इसको physically या असली में नहीं देख सकते ये ऑनलाइन ही काम करता है.

जैसे आप payment के लिए ATM कार्ड का इस्तेमाल करते है, ऐसे ही E-Wallet का इस्तेमाल भी ऑनलाइन या ऑफलाइन पेमेंट के लिए होता है.

बस इसमें आपको बार बार अपनी बैंक की details नहीं देनी होती.

आपने देखा होगा की काफी सारी दुकानों में paytm का bar code लगा होता है.
इसी bar code को scan कर या नंबर डाल कर पैमेंट हो सकती है.

जैसे हमारे बैंक account में पैसे डालने का ऑप्शन है, हम हुद अपने अकाउंट में पैसे डाले या कोई और deposit करा दे.

ऐसे ही E-Wallet में भी पैसे हम अपने बैंक account से डालते है या कोई और हमे भेजता है.

E-Wallet या डिजिटल wallet के फायदे

E-Wallet या डिजिटल wallet के बहुत सारे फायदे है जैसे की:-

जल्दी से payment करना

आपको अपने कार्ड की detail नहीं डालनी, कोई ATM पिन नहीं डालनी.
बस Scan करे या नंबर टाइप करे और पेमेंट कर दे

Security

हम लोगो के डिजिटल wallet में कम पैसे रखते है.
ऐसे में कोई आपका E-Wallet को access कर ले, तो कितने पैसे ले कर जाएगा?

पर अगर ATM से payment करते वक़्त आपका डाटा leak हुआ,
तो आपका पूरा बैंक account खाली हो सकता है.

Online shopping

अब धीरे धीरे सब E commerece वेबसाइट इ-वॉलेट से पेमेंट लेने लगी है.
ऐसे में आपको अपने कार्ड की details किसी अनजान वेबसाइट पर डालने की ज़रूरत नई है.
बस digital wallet से पेमेंट कर दे .

Bill भर सकते है

आप पानी, बिजली के बिल भर सकते है या movie और travel के ticket भी बुक कर सकते है.

फ़ोन recharge

जिनते भी E-वॉलेट है, इन सबकी शुरुआत मोबाइल recharge कराने से हुई थी.
पर धीरे धीरे ये facilities बढ़ाते गए.
और आज हम Airplain का ticket भी paytm से खरीद सकते है.

Bank details सेफ रहती है

आपको अपने कार्ड की detail किसी दूसरे आदमी के सामने डालने की ज़रूरत नहीं है.

Fund transfer

काफी लोग तो अपने बैंक account में पैसे मगाने के लिए paytm या TEZ का इस्तेमाल करते है.
पहले पैसे आपके E-Wallet में आते है, फिर बैंक अकाउंट में जाते है.

Refund जल्दी मिलता है

अगर आपकी बैंक पेमेंट failed हो जाए, तो कुछ नहीं पता कब तक पैसे वापिस आएगे.
पर इन वॉलेट में transsection failed होने पर, तुरंत refund मिलता है.

Digital या E-Wallet के टाइप?

सीधा सीधा देखा जाए तो Digital wallet 3 तरह के है.

  1. Closed E-Wallet
  2. Semi-Closed E-wallet
  3. Open E-Wallet
Closes E-wallet

इन वॉलेट पर आप बस उसी company की product या service खरीद सकते हो.
न तो इसमें पैसे निकाले जा सकते है और न ही कुछ Interest मिलता है. जैसे की Flipkart, Amazon या book my show के wallet.

Semi E-wallet

Semi E-Wallet पर अलग अलग companies की Product या सर्विस खरीद सकते हो.
या फिर किसी physical location पर भी payment कर सकते हो.
इसमें पैसे withdraw करने का ऑप्शन भी होता है. जैसे की PayTm, Freecharge.

Open E-Wallet

Open E-Wallet का इस्तेमाल आप कहि भी कर सकते हो.
ATM से पैसे निकलने के लिए या कुछ खरीदने के लिए.
ये direct बैंक से issue होते है.

Digital wallet का इस्तेमाल कैसे करे?

E-wallet का इस्तेमाल हमारी ज़रूरत के ऊपर निर्भर करता है.
हमे पैसे भेजने है, पैसे मागने है, या ऑनलाइन कहि बिल देते है.

पैसे भेजने के लिए

आपको किसी को पैसे देने है तो इसके दो तरीके है.
अगर आपने किसी physical location से कुछ ख़रीदा है तो Bar कोड scan कर या मोबाइल नंबर से पैसे भेज दिए.
ऑनलाइन किसी को पैसे भेजने है.
तो उसके लिए जिसको पैसे भेजने है उसका मोबाइल नंबर डालिये पैसे डालिये और भेज दिए.

पैसे मागने के लिए

किसी से पैसे मागने के लिए आपको पहले आपने फ़ोन नंबर से अकाउंट बनाना होगा.
फिर जिस से पैसे मागने है, उसे आपने नंबर बताओ और पैसे मगा लो.
इन पैसो को आप आपने बैंक में transfer कर सकते है
या दुबारा से कहि ऑनलाइन pay कर सकते है.

Online बिल देने के लिए

ऑनलाइन बिल से हमारा मतलब है, फ़ोन recharge करना, ऑनलाइन बुकिंग करना या utility के बिल देना.
इसके लिए आपको E-wallet के अंदर ही ऑप्शन मिल जाएगा.

आपको जो बुक करना है वो बुक करे, फिर digital wallet से payment कर दे.

E-Wallet पर अकाउंट कैसे बनाए?

E-Wallet पर account बनाने के लिए आपको email ID और फ़ोन नंबर की ज़रूरत होगी.
इन wallet की वेबसाइट या Application पर जाकर account बनाए.
अपने नंबर और email को verify करे.

Account बनने के बाद उसमे कुछ पैसे डाले.
इस के लिए Apne ATM कार्ड का इस्तेमाल करे.
आप चाहे तो जल्दी payment के लिए,
अपने card की details save कर सकते है. पर CVV नंबर सेव न करे.

फिर payment complete करने पर पैसे आपके account में आ जाएगे.
अब इन पैसे से आप कहि भी payment कर दे.

क्या digital wallet secure है?

ये कितने secure है ये आप पर निर्भर करता है.

अगर आप आपने डिजिटल wallet को बिना password के खुला रखते है
तो कोई भी आपको security नहीं दे सकता.

बाकि E-Wallet आपकी बैंक detail को hide करने के लिए एक extra लेयर देता है.
जिस से आपको अपनी बैंक details सब जगहा नहीं देनी होती .

सारे ऑनलाइन wallet SSL security का इस्तेमाल करते है, जिस से payment करने में डाटा private रहता है.

अगर आप message में आए OTP को private रख सकते है, To इ-वॉलेट बहुत secure है.

Digital wallet के इस्तेमाल के लिए क्या चाहिए?

Digital wallet ज़्यादा कुछ नहीं बस एक application होती है.
जिसमे आपको transection करने के लिए bank अकाउंट से connect करना पड़ता है.
तो आपको ज़रूरत होगी :-

  • Phone या लैपटॉप
  • Internet कनेक्शन
  • E-Wallet application
  • Bank account और ATM card.

E-Wallet इस्तेमाल करते वक़्त ध्यान रखने वाली बाते

जितना ज़रूरी आपको आपने ATM कार्ड या Net banking को सुरक्षित रखना ज़रूरी है.
उतना ही आपको ऑनलाइन wallet को भी secure रखना चाहिए.
इसके लिए कुछ बातो का ध्यान रखे जैसे की:-

OTP किसी को न बताये

आप कार्ड से transection करे, Net baking का istemaal करे या डिजिटल wallet का.
सभी जगहा OTP की ज़रूरत पढ़ती है.

OTP का मतलब है One-time password जो की आपको हर transection का अलग अलग मैसेज किया जाता है.

OTP आपको companies या बैंक भेजते है. बिना OTP के transection पूरी नहीं होगी.

इसलिए आपको किसी की call आए या कोई भी आपसे OTP पूछे, तो कभी उनको OTP न दे.

अपने wallet और फ़ोन में password लगाए

अगर आपका फ़ोन किसी और के पास पहुंच जाए, तो वो आपके फ़ोन पर ही OTP मांगा कर आपके सारे पैसे गायब कर सकता है.
हमेशा अपने फ़ोन में और E-Wallet application में पासवर्ड लगा कर रखे.

दुसरो के फ़ोन पर अपनी E-Wallet application का लॉगिन न करे.

हमेशा अपने फ़ोन में ही लॉगिन करे, दुसरो के फ़ोन में अपना डाटा डालना अच्छी बात नहीं है.

काफी बार लोगो के password सब चीज़ के एक होते है
हो सकता है, जिसपर आप भरोसा का रहे है.
वो आपके पैसे न चोरी करे, पर आपका password देख कर आपकी Facebook id खोल दे.

Message या कॉल पर भरोसा न करे

आपके पास कभी भी कोई transection का messsage आता है तो उसपर सीधा भरोसा न करे.
हमेशा direct अपने bank account में या E-Wallet में amount चेक करे.

इंडिया के top E-Wallet

पिछले कुछ सालो में बहुत साले डिजिटल वॉलेट आए है. पर इन सब में Paytm ही सबसे फेमस है.
जैसे मेने शुरू में बताया, डिजिटल wallet की शुरुआत नोट बंदी के बाद से हुई है.

तब E-Wallet इस्तेमाल करना मज़बूरी थी, आज आदत बन चुकी है.

हम लोग चाहे तो सीधा अपने बैंक से दूसरे के बैंक अकाउंट में पैसे NIFT के ज़रिये भेज सकते है.
पर अगर अमाउंट 100-1000 INR के आस पास हो तो हम Paytm करना ही पसंद करते है.

E-Wallet इस्तेमाल करने की एक और वजह है discount और Coupon कोड .
तो चलिए जानते इंडिया के top Digital wallet :-

PayTm

आज हम किसी से E-wallet की बात करे, तो लोगो को लगेगा की हम बस PayTm की बात कर रहे है.
PayTm ही इंडिया का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल होने वाला E-Wallet है.
जो बहुत सारी services के sath बहुत सिक्योर भी है.

MobikWik

इस वॉलेट का इस्तेमाल हम ज़्यादातर मोबाइल recharge करने के लिए करते है, पर इसी के साथ इस पर online shopping और online food booking के भी अच्छे ऑप्शन है.

MobikWik में SuperCash नाम का फीचर है, जो cashback की तरह काम करता है.

Tez

Tez गूगल की app है, इसकी खास बात ये है की इसमें पैसे रुकते नहीं है.
आपके पैसे भेजने हो या मागने हो, ये सीधा बैंक से transection करता है.

अगर आप पैसे मगा रहे हो तो, वो सीधा बैंक अकाउंट में जाएगे.
और पैसे भेज रहे है तो, वो भी सीधा बैंक अकाउंट से जाएगे.

न तो इसमें कोई चार्ज लगता है, और transection टाइम भी कम है.

इस पोस्ट पर हमारी राय

Digital wallet बहुत से cash back या discount देते है.

पर cashback पर ध्यान न देकर, आप अपनी ज़रूरतों पर ध्यान दे.

अगर आपको लगता है आपको बार बार ऑनलाइन payment करता होता है.

या आपको ज़्यादा cash रखना पसंद नहीं है, तो ही digital wallet का इस्तेमाल करे.

वार्ना:

सबसे अच्छा ऑप्शन यही की cash से payment करे.

जब आप अपने हाथो से पैसे खर्च करते है तो अंदाज़ा रहता है की आप कितने पैसे खर्च कर रहे है.

व्ही:
ऑनलाइन पेमेंट में आपको पता भी नहीं चलता और आप ज़रूरत से ज़्यादा पैसे खर्च करते है.

हमे लगता है आपको हमारी पोस्ट E-wallet या Digital wallet क्या है पसंद आई होगी.
अगर कोई सवाल है तो comment में ज़रूर पूछे.

2 Comments

  1. Nandan Roy September 6, 2018
    • Umair habib September 8, 2018

Leave a Reply

error: