Dona Pattal business in Hindi – Cup plate business की जानकारी

किसी भी Business को शुरू करने के लिए ये जरूरी नहीं है कि आपके पास काफ़ी ज्यादा पूँजी हो। बस आपके पास अच्छी सोच और काम करने का हौसला होना जरूरी है। इन दोनों की बदौलत आप कम पूँजी के बावजूद एक अच्छा Business Setup कर सकते हैं।

इस बात को सही सिद्ध किया है छत्तीसगढ़ के एक छोटे से ज़िलें बिलासपुर के गाँव की महिलाओं के एक समूह ने। इनके द्वारा बनाये गए दोना और पत्तल का Use तिरुपति बालाजी के मंदिर में लोगो को प्रसाद वितरित करने के लिए किया जाता है।

दोना पत्तल का बिज़नेस कैसे शुरू करे?

Dona Pattal business in Hindi – Cup plate business की जानकारी

Dona Pattal business in Hindi

दोना और पत्तल का Business बेहद कम पूँजी के साथ शुरू किया जा सकता है। इसकी Demand इस समय इतनी अधिक है कि आप आसानी से इस Business में सफलता पा सकते हैं।

इसी लिए आज हम आपको इस Business से जुड़ी सारी बाते बताने वाले हैं।

दोना पत्तल के काम के registeration या ज़रूरी Papers

Dona pattal का काम शुरू करने में कुछ ज़्यादा legal process की ज़रूरत नहीं है। बस आपको कुछ papers त्यार कराने होंगे जो की नीचे लिखे है।

  • अपने बिज़नेस का नाम रखे।
  • फिर उसे किसी एक केटेगरी (Proprietorship, Partnership LLP या private limited company) में डलवा दे।
  • Municipalty से trade licence ले।
  • अपने आप को Udyog aadhar पर MSME के तोर पर रजिस्टर करे। इसके लिए Distict indusries centre से contact करे।

पत्तल दोना का Market

किसी भी Business को शुरू करने से पहले आपको सबसे पहले अपने Customer को जान लेना चाहिए।

आप जिस किसी भी Product को Market में लाने जा रहे हैं उसे लेकर ये जरूर समझ लें कि आपके

  • Product का Customer कौन है?
  • कहाँ पर सबसे ज़्यादा Customer मौजूद है?
  • किस Area में आपके Product की कितनी खपत है?
  • समाज का कौन सा वर्ग आपके Product के लिए सबसे फ़िट बैठता है?

इन सब बातों को जानने के बाद और सही आँकलन करने के बाद ही आपको Market में कोई भी Business करने के लिए उतारना चाहिए। ऐसे में दोना पत्तल के Business को शुरू करने से पहले आपके पास इन सभी सवालों का जवाब होना बेहद जरूरी है।

अगर बात की जाए दोना और पत्तल के Market की तो इस समय शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र होगा जहाँ पर दोना पत्तल की Demand ना हो।

घरों में होने वाली शादियों तथा अन्य Function से लेकर, मंदिरों, धार्मिक उत्सवों, भंडारों आदि सभी जग़ह पर दोना पत्तल ही लोगो को भोजन कराने तथा प्रसाद वितरित करने के काम आते हैं। इसके साथ ही छोटे होटलों, रेलवे स्टेशन तथा बस स्टेशन आदि पर भी दोना पत्तल का Use किया जाता है।

ऐसे में हमारे देश में दोना और पत्तल का Market काफ़ी बड़ा है। आप भारत के किसी भी प्रदेश अथवा ज़िलें में हो, वहाँ पर पत्तल दोना का Business Start कर सकते हैं। भारत के किसी भी क्षेत्र में पत्तल दोना का Business Start कर के आप इसमें काफ़ी अच्छा मुनाफ़ा कमा सकते हैं।

कैसे करें पत्तल दोना के Business की शुरुआत?

Market में कई तरह के पत्तल और दोना मौजूद हैं।
भारत मे बहुत पुराने समय से पेड़ो की पत्तियों से प्लेट बनाकर उसका प्रयोग खाना परोसने के लिए किया जाता रहा है। प्राचीन समय मे लोगो द्वारा जंगल से विभिन्न पेड़ों के पत्तो को लाकर उससे दोना और पत्तल बना दिया जाता था।

आज भी पेड़ो के पत्तो से बने दोना और पत्तल का इस्तेमाल लोगो के द्वारा किया जाता है। लेकिन पर्याप्त मात्रा में पेड़ो की उपलब्धता ना होने के कारण इसका प्रयोग थोड़ा सीमित हो गया है।

इसके बाद प्लास्टिक के बने प्लेट और दोने का Use भी काफ़ी प्रचलन में आया। लेकिन प्लास्टिक से बने इन दोने और पत्तल से प्रदूषण काफ़ी होता है इस वज़ह से इसका Use भी अब कम ही होता है।

ऐसे में इस समय बाज़ार मे अधिकतर कागज़ से बने या फ़िर पेड़ की पत्तियों से बने पत्तल और दोनें ही ज्यादा पसन्द किये जा रहे हैं। अतः अगर आप पत्तल दोना का Business शुरू करना चाहते हैं तो बेहतर यही होगा कि आप कागज़ या फ़िर पत्तियों से बने दोने पत्तल का ही Business शुरू करें।

कागज़ से बने दोंने पत्तल

यहाँ पर हम आपको बता दें कि कागज़ के बने दोना पत्तल के लिए आपको Raw Material के रूप में कागज़ के इस्तेमाल करना होगा।

इसके साथ ही कागज़ से बने दोने और पत्तल पानी लगने पर भीगकर खराबहोने लगते हैं अतः आपको इसके लिए पन्नी की भी जरूरत होगी, जिससे उस पर Lamination चढ़ाना होगा।

वहीं अगर आप पत्तियों वाले दोने का Business करना चाहते हैं तो आपको Raw Material के रूप में सिर्फ़ पेड़ की पत्तियाँ लानी होंगी। अगर आप चाहें तो कागज़ और पेड़ की पत्तियों से बने दोना और पत्तल दोनों का ही निर्माण शुरू कर सकते हैं।

इन दोनों तरह के पत्तल का निर्माण आप एक ही तरह के मशीन से कर सकते है, इन दोनो ही तरह के पत्तल के Production के लिए बस आपको अलग-अलग Raw Material की जरूरत पड़ेगी।

दोना पत्तल के निर्माण के लिए जरूरी Raw Material

अब जानते हैं कि दोना और पत्तल का Business शुरू करने के लिए आपको किस-किस चीज़ो की आवश्यकता पड़ेगी।

  • मोटा कागज़ या पेड़ो की पत्तियाँ अथवा दोनों
  • पॉलिथीन शीट
  • प्रिंटिंग केमिकल
  • डाई एवं पैकिंग Material
  • पोली कोटेड पेपर

Business के लिए pattal dona machine की जानकारी

आपको pattal dona machine की ज़रूरत होगी। ये मशीन भी अलग अलग साइज में आती है। आपको अपनी ज़रूरत या production के हिसाब से अपने लिए pattal dona machine खरीदनी होगी। मचिनो के साइज अलग अलग है जैसे की –

  • सिंगल डाई मशीन हैंड प्रेस
  • हैंड प्रेस डबल डाई मशीन
  • डाई मोल्ड तथा अन्य Apparatus
  • Automatic कप मशीन
  • Fully Automatic Dona Pattal Machine

इन सबके साथ ही आपको Office निर्माण के लिए Furniture तथा अन्य सामग्री की भी जरूरत पड़ेगी।

इन सभी सामान के उपलब्ध होने के बाद एक या दो लोग मिलकर आसानी से छोटे Scale पर दोना और पत्तल का निर्माण करना शुरू कर सकते हैं।
इसका Manufacturing Process ज़्यादा जटिल नहीं है। अतः इसके लिए आपको किसी Professional Worker की जरूरत नहीं पड़ेगी। कोई भी व्यक्ति एक दिन में ही मशीन से दोना पत्तल को बनाना सीख सकता है।

इसके साथ ही Manufacturing Process को भी थोड़ा समझ लेते हैं।

दोना पत्तल का Manufacturing Process

इसका Manufacturing Process काफ़ी आसान है। इसके लिए बस उपयुक्त मोटाई का कागज़ या फिर पत्ते को लेकर उसके ऊपर पॉलीथिन की शीट लगा दी जाती है। अब इसे मशीन के Mold (साँचे) में रखकर दबा दिया जाता है, Pressure की मदद से कागज़ या पत्ता Mold के आकार का बन जाता है।

चूँकि मशीन में हीटर लगा होता है अतः Temperature की मदद से पॉलिथीन Lamination के रूप में कागज़ के ऊपर चिपक जाता है। इस तरह से 1 सेकंड से भी कम के समय में दोना तथा पत्तल बनकर तैयार हो जाता है।

एक मशीन की मदद से एकव्यक्ति प्रति घन्टे 2400-3000 पीस तैयार कर सकता है। इसका Production Rate अलग-अलग मशीन के Use करने के साथ ही कम गया ज़्यादा भी हो सकता है।

Manual और Single डाई वाली मशीन से कम Production होता है वहीं इसकी Automatic और Double डाई वाली मशीन से आप इसके Production के Rate को बढ़ा भी सकते हैं।

मशीन की मदद से जब दोना और पत्तल तैयार हो जाता है तब आपको इसे 100-100 के Packet में Pack करना होता है। इसके बाद आपका दोना और पत्तल Market में बिकने के लिए तैयार है।

अब यहाँ पर एक जरुरी सवाल ये उठता है कि आपको ये सभी मशीनें कहाँ से मिलेंगी और आपको इसके लिए कितना ख़र्चा करना पड़ेगा?

दोना पत्तल के Business के लिए Budget 

आपको बता दें कि आप इस Business को बेहद कम लागत पर शुरू कर सकते हैं। इसके Production के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मशीन की कीमत साधारणतः 30,000 से लेकर 1,00,000 तक होती है।
अतः आप शुरुआत में 30- 40,000 रुपये लगाकर इसकी Single डाई वाली Manual मशीन ख़रीद सकते हैं।

वहीं अगर आपको ये काम काफ़ी बड़े पैमानें पर करना है तो आप इसकी Fully Automatic और Double डाई वाली मशीन ख़रीद सकते हैं। दोना पत्तल बनाने की Fully Automatic मशीन की कीमत 1.5 लाख से शुरू होकर 10 लाख तक होती है।

शुरू – शुरू में आप 2 या 3 Worker की मदद से इसका Production शुरू कर सकते हैं। वहीं कुछ दिनों के बाद जब Production बढ़ाना हो तो आप मशीन और Worker की संख्या बढ़ा सकते हैं।

चूँकि पत्तल और दोने का Business भारत का Traditional और लघु उद्दोग के रूप में जाने जाता है। अतः सरकार भी इस Business को शुरू करने के लिए आर्थिक मदद देती है।

ऐसे करें Market में Supply

दोना पत्तल का Production करने के बाद इसे Market में पहुँचाना भी एक चुनौती है। इसके लिए हम आपको ये सलाह देंगे कि आप सबसे पहले अपने आस-पास के दुकानदारों से सम्पर्क कर के उन्हें इसकी Supply करना शुरू कीजिए।

धीरे-धीरे इसे अपने पास के Market में पहुँचाने के साथ ही इसका Production बढ़ाने का काम करें। ऐसा करते हुए ही आप अपने इस Business को बड़ा कर सकते हैं।

दोना पत्तल के काम पर हमारी राय

दोना और पत्तल का निर्माण भारत का एक पारंपरिक व्यवसाय है। समय के साथ इसके रूप में तो परिवर्तन आया है लेकिन इसकी माँग में कोई कमी नहीं आयी है।
आज के समय में और आने वाले समय में भी हमेशा इसकी माँग बनी रहेगी। इसका Business Start करना आपके लिये हमेशा फ़ायदे का सौदा साबित होगा।

अगर आप दोना और पत्तल का Business शुरू करना चाहते हैं तो बिना किसी देरी के आप इसे Start कर दें।

बेहद कम लागत में इस Business को शुरू कर के आप खुद के लिए एक बेहतर आय स्त्रोत बनाने के साथ ही अपने आस-पास के लोगो के लिए भी रोज़गार उपलब्ध कराने का काम करेंगे।

Leave a Reply