CCTV full form – CCTV क्या है?

CCTV की फुल फार्म होती है – Close circuit TV

अब वह जमाना नहीं है कि किसी घटना के हो जाने के बाद पुलिस के हाथ सुबूत के नाम पर खाली हों। इन दिनों सीसीटीवी ने उनकी मुश्किलें बेहद आसान कर दी हैं। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे इंस्टाल हैं। इनकी फुटेज की मदद से पुलिस के हाथ दोषियों की गर्दन तक आसानी से पहुंच जाते हैं।

केवल पुलिस ही नहीं, ज्यादातर कारपोरेट और दूसरे आफिसों में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं ताकि कर्मचारियों की गतिवि‌धियों की निगहबानी की जा सके। दुकानदारों ने चोरी, डकैती जैसे घटनाओं को देखते हुए सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं तो वहीं मोहल्ले वालों ने किसी संदिग्‍ध की मोहल्ले में मौजूदगी को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से ऐहतियातन कैमरे लगवाए हैं।

इसके अलावा ज्यादातर पब्लिक प्लेस यानी रेलवे स्टेशन, बैंकों, बस स्टैंड, चौराहों, बाजारों सभी जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हैं या लगाए जा रहे हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि CCTV full form क्या है? आजकल किस तरह के कैमरे काम कर रहे हैं? वगैरह-वगैरह? हम आपको बताएंगे इससे जुड़े पहलुओं के बारे में-

CCTV full form in Hindi

CCTV की फुल फार्म होती है – Close circuit TV

CCTV in Hindi – क्लोज सर्किट टीवी।

दिखने में बेहद आम लगने वाले इस कैमरे के जरिये आप उस जगह की निगरानी कर सकते हैं, जहां आपने इसे इंस्टाल किया है। इसका आम तौर पर किसी की गति‌विधि की मानीटरिंग करने यानी उसकी निगरानी करने के लिए ही किया जाता है। इसके अलावा किसी घटना के सुबूत के तौर पर भी CCTV फुटेज बहुत काम आती है। बहुत सारे चोरी, एक्सीडेंट आदि के केस CCTV फुटेज के सहारे खोल पाने में ही पुलिस सक्षम रही है।

ये भी जाने

बहुत एडवांस हैं CCTV, आईपी से भी निगाहबानी

इन दिनों जो CCTV कैमरा देखने को मिल रहे हैं, वह बहुत एडवांस हैं। यह केवल मौके की तस्वीरें ही रिकार्ड नहीं करते, बल्कि एडवांस साउंड सिस्टम के साथ रिकार्ड करने में भी सक्षम हैं। इतना ही नहीं, आईपी कैमरे के जरिये लोगों, घटनाओं पर नजर रखी जा रही है। द

रअसल, जिस जगह CCTV को इंस्टाल किया गया है आप वहां से आईपी कैमरे यानी इंटरनेट प्रोटोकाल के जरिये अपने मोबाइल पर भी सारी रिकार्ड‌िंग देख सकते हैं। यह IP कैमरा पूरी तरह से वायरलेस होता है। इसे इंटरनेट कनेक्‍शन के लिए केबल की जरूरत नहीं होती। यह वाई-फाई से चलता है। वाई-फाई आन होते ही चालू हो जाता है कैमरा।

CCTV के फायदे

आजकल इनका सबसे ज्यादा चलन कार्यालयों में है, जहां कर्मचारियों पर नजर रखने के लिए CCTV का जमकर इस्तेमाल हो रहा है। मसलन कर्मचारी कितने बजे दफ्तर में घुस रहा है? कहां बैठकर खाना खा रहा है? किससे बोल रहा है? अपनी सीट पर कितनी देर बैठा है? या कहीं पान की पीक तो नहीं थूक रहा? इन छोटी-मोटी लगने वाली बातों की मानीटरिंग भी बड़ी गंभीरता के साथ की जा रही है। प्रमोशन के वक्त इन्हीं बातों को आधार बनाकर कई दफा कर्मचारी के दावे को रिजेक्ट भी कर दिया जाता है।

पर बहरहाल इनसे डरने की जरूरत संदिग्‍ध गतिविधियों के लोगों को ज्यादा है। और होता तो यह है कि कई बार इनका होना भी काम नहीं आता। मसलन CCTV लगे होने के बावजूद चोर बड़े हौसले के साथ एटीएम लूट ले जाते हैं। वह या तो सिर पर हेलमेट पहने आते हैं या फिर मुंह पर स्कार्फ बांधकर, जिससे उनकी पहचान नहीं हो पाती। कई उसे क्षतिग्रस्त कर जाते हैं।

ये भी जाने

CCTV पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना CCTV क्या है, CCTV कैसे काम करता है, CCTV के फायदे और BCCI form in Hindi के बारे में. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: