BSF full form – BSF के काम क्या है?

BSF की फुल फॉर्म है – Border Security Force

आपको ‘बार्डर’ समेत लड़ाई के बैक ग्राउंड पर बनी तमाम फिल्‍में जरूर याद होंगी। आपने देखा होगा कि जवान अपनी जान देकर भी अपने वतन की रक्षा करते हैं।

1971 का भारत-पाकिस्तान युद्ध हो या कारगिल युद्ध, बीएसएफ यानी BSF की वीरता की कहानियां सुनी जा सकती हैं। बहुत से किशोर युवा इन कहानियों को देख-सुनकर बीएसएफ में भर्ती होने के सपने संजोते हैं। वह भी देश की रक्षा में कुर्बान होना चाहते हैं। BSF में भर्ती होना सम्मान से जुड़ा है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि BSF की फुल फॉर्म क्या है? यह किस तरह देश की सीमाओं की रक्षा करता है वगैरह-वगैरह? आज हम आपको BSF full form के साथ ही इससे जुड़ी बारीक-से-बारीक जानकारी देंगे-

BSF full form in Hindi 

BSF की फुल फॉर्म है – Border Security Force

BSF meaning in Hindi – बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स।

इसे हिंदी में सीमा सुरक्षा बल भी पुकारा जाता है। इसे ही देश की फर्स्ट लाइन आफ डिफेंस यानी प्रथम रक्षा पंक्ति पुकारा जाता है। आपको बता दें कि यह सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स यानी सीएपीएफ की अकेली ऐसी अपनी फोर्स है, जिसका अपना एयर, नेवल डिपार्टमेंट होने के साथ ही तोपखाना भी है।

BSF के काम क्या है?

BSF 6,385 किलोमीटर बार्डर की रक्षा करता है। बता दें कि हमारे देश का 15,106 किलोमीटर लंबा बॉर्डर है, जिसमें से लगभग आधा समुद्र के साथ है तथा आधा जमीन के साथ।

ये भी जाने

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है BSF

BSF बीएसएफ एक्ट-1972 के तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है। इस एजेंसी के पहले प्रथम डायरेक्टर जनरल यानी महानिदेशक केएफ रूस्तम थे। वह 1965 से लेकर 1974 तक इस पद पर रहे की प्रथम पंक्ति बल है। यह भारत का एक अर्धसैनिक बल है।यह देश की सीमा की रक्षा करता है चाहे लड़ाई की स्थिति हो या शांति की।

BSF की शुरुआत

BSF की स्‍थापना एक दिसंबर 1965 को हुई। इसमें भी हर सरकारी विभाग की तरह दो रैंक कैटेगरी हैं। एक है गजेटेड ऑफिसर और दूसरा है नॉन-गजेटेड इसमें गजेटेड ऑफिसर: की कैटेगरी में डायरेक्टर जनरल यानी डीजी, स्पेशल डायरेक्टर जनरल मतलब एसडीजी, एडिशनल डायरेक्टर जनरल यानी एडीजी, इंस्पेक्टर जनरल यानी आईजी, डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल मतलब कि डीआईजी, कमांडेंट, सेकंड इन कमांड, डिप्टी कमांडेंट और असिस्टेंट कमांडेंट आते हैं।

वहीं नॉन गजेटेड ऑफिसर की कैटेगरी में सूबेदार मेजर, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल आते हैं।

BSF कैसे join करे?

आपको बता दें‌ कि BSF की समय-समय पर भर्ती निकलती है। हर पद के लिए न्यूनतम अर्हता रैंक के आधार पर निर्धारित होती है। सबसे शुरुआती कांस्टेबल के पदों पर भर्ती होने के लिए न्यूनतम योग्यता 10वीं पास है। आपको यह भी बता दें कि आवेदन करते समय आपकी उम्र 18 से 23 वर्ष के बीच होनी चाहिए। एससी, एसटी और ओबीसी का कोटा अलग से होता है।

ये भी जाने

BSF पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना BSF क्या है, BSF के काम और BSF full form in Hindi के बारे में. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: