Bitcoin क्या है- कैसे ख़रीदा जाता है?

Bitcoin क्या है, कैसे ख़रीदा जाता है और इस से पैसे कमाए? ये सवाल आपके मन में आते होंगे. तो आज इसी पर बात करते है.

हमारी दुनिया जैसे जैसे digital होती जा रही है, वैसे वैसे ही internet और technology भी हमारी ज़िंदगी का अहम हिस्सा बनती जा रही है। आजकल हर कोई internet के जरिए online पैसे कामना चाहता है। जिसके लिए लोग internet पर online earning के जरिये देखते रहते है। Bitcoin भी इन्ही तरीकों में से है।

आप लोगो ने अक्सर bitcoin का नाम सुना होगा, लेकिन bitcoin से जुड़ी अहम जानकारियाँ नहीं जानते होंगे। आज हम बिटकॉइन के बारे में बात करेंगे। तो आइए जानते है कि है आख़िर Bitcoin क्या है?

Bitcoin क्या है What is Bitcoin in Hindi?

Bitcoin के बारे में सब ने सुना होगा तो जानते है Bitcoin in Hindi

Bitcoin in Hindi

Bitcoin एक प्रकार की virtual currency है जिसका कोई भी भौतिक रूप नहीं है , इसे न तो हम देख सकते है और न ही छू सकते है। क्योंकि यह एक digital currency है इसका कोई भी physical existense नहीं है।

ये भी जाने –  शेयर मार्किट क्या है?

यह encrypted digital codes से सुरक्षित एक तरह की नई करेंसी है ,जिसका इस्तेमाल computer network और बड़े digital fields में mutual payments में होता है। इसे सिर्फ़ digital wallets में स्टोर करके रखा और व्ही से इसका लेन-देन किया जा सकता है।

Bitcoin decentralized currency है

Decentralized का मतलब है कि इस पर किसी भी सरकार या बैंक की authority नहीं है। यह दुनिया का सबसे पहला open payment network था।

Bitcoin का अविष्कार Satoshi Nakamoto नाम के इंजीनियर ने 2008 में किया था , जिसे 3 जनवरी 2009 को open source software के रूप में शुरू किया गया। आज के समय में पूरी दुनिया में 10 मिलियन (1 करोड़) से ज़्यादा bitcoins मौजूद हैं। इसकी शुरुआत से ही ये काफ़ी populer है।

Bitcoin का इस्तेमाल क्या है?

Bitcoin का अविष्कार digital payments और online mutual transactions के लिए किया गया था। Bitcoin, Peer to Peer network पर based एक online payment सिस्टम है। जिसका मतलब है कि आप किसी भी व्यक्ति से direct, बिना किसी bank या credit card या किसी कंपनी के जरिए online transactions कर सकते हैं।

साधारण बैंक या किसी credit/debit card से online payments करने में लगभग 2 से 3 प्रतिशत transaction charge लगता है। लेकिन bitcoin में ऐसा कोई भी charge नहीं लिया जाता। इसमें कोई भी credit limit नहीं होती, इसमें bitcoin के ख़रीददार के पहचान को छिपा कर रखा जाता है। यह पूरी तरह fast and secured है। इसका इस्तेमाल दुनिया में कहीं भी किया जा सकता है। ऐसी सैंकड़ो कंपनियां हैं जो bitcoins accept करती हैं। जिसकी वजह से ये काफ़ी popular होता जा रहा है।

ये भी जाने Intraday trading क्या है?

Bitcoins से किये गए सभी transaction एक public ledger (अकाउंट) में सुरक्षित रहते हैं, जिसे blockchain कहते हैं। यह bitcoins की सभी transaction का रिकॉर्ड रहता है।

Bitcoin की value क्या है?

Bitcoins को control करने के लिए कोई authority या goverment नहीं है इसीलिए इसकी वैल्यू हमेशा घटती बढ़ती रहती है। इसकी value लेनदेन के समय और डिमांड के हिसाब से कम ज़्यादा होती रहती है। आज के समय में भारत में 1 Bitcoin की कीमत 4,46,508.77 रूपए है।

BitCoin wallet क्या है?

Bitcoin को हम बस electronic form में ही रख सकते है. इसको electronically रखने के लिए है wallet के ज़रूरत होती है.

Wallet कई तरह के है जैसे कि desktop wallet, mobile wallet, Online wallet और Hardware wallet. Wallet आपको एक ID, Address के रूप में देता है जिस से आप Bitcoin का मंगा या भेज सके.

ये भी जाने – Demat account क्या है?

जब आप बिटकॉइन बेचते है तो आपके account में पैसे भी Bitcoin wallet से ही जाते है.

Bitcoin Mining (बिटकॉइन माइनिंग) क्या है?

Bitcoin Mining का मतलब ऐसा process है जिसमे computer की power का इस्तेमाल कर online transactions किये जाते है और इसके network को सुरक्षित रखा जाता है।

bitcoins को दुनिया भर के bitcoins miners कंट्रोल करते है। Bitcoin miners वो होते है जो bitcoins बनाते हैं। Bitcoin, Bitcoin Mining network को एक सफ़ल और तेज़ transaction के लिए मिलने वाला gift है।

Bitcoins miners को इसकी mining के लिए एक ऐसे powerful Computer system की ज़रूरत होती है जिसमें प्रोसेसिंग तेज़ी से हो। इसके साथ साथ एक bitcoin mining software की ज़रूरत पड़ती है। इसमें bitcoin miners, अपने computers से mutual transactions की सफ़लता को confirm करने के लिए करता है।

ये भी जाने – Mutual fund क्या है?

Minerss जितनी ज़्यादा computing power से bitcoin network से transactions करते हैं उन्हें उसी के हिसाब से bitcoin मिलते हैं। Bitcoin mining का उद्देश्य यह है कि इसके network को सुरक्षित बनाना और इसे किसी भी तरह के छेड़छाड़ से दूर रखना।

Bitcoin कैसे कमाया जाता है?

Bitcoin कमाने के कई जरिए हैं जैसे कि

  1. पहला सीधा तरीका है कि आप सीधे bitcoin को उसकी value के हिसाब से ख़रीद सकते हैं, अगर आप इतने रुपये नहीं लगा सकते तो आप bitcoins की सबसे छोटी unit ‘Satoshi’ को भी ख़रीद सकते हैं। 1 bitcoin में 10 करोड़ ‘Satoshi’ होते हैं। आप धीरे धीरे ‘Satoshi’ ख़रीदकर एक या उससे ज़्यादा bitcoin बना सकते हैं। जब आपके पास bitcoins हो जायेगा, तबतक उसकी price भी बढ़ जायेगी, जिसे बेच कर आप ज़्यादा से ज़्यादा पैसे कमा सकते हैं।
  2. अगला तरीका ये है कि आप  online payments के लिए bitcoins का इस्तेमाल करिए, जब आपके पास ज़्यादा bitcoins हो जाये तो आप उसे higher price पर बेच कर profit कमा सकते हैं। Bitcoins द्वारा खरीदने या बेचने के लिए Bitcoin Address का इस्तेमाल किया जाता है। Bitcoin network के किसी भी blockchain में अपना account बना कर आप bitcoins का लेनदेन कर सकते हैं।
  3. तीसरा तरीका Bitcoin Mining का है। लेकिन यह इतना भी आसान नहीं है। इसके लिए आपको एक ऐसे पॉवरफुल computer की ज़रूरत पड़ेगी जिसकी processing पावर काफ़ी ज़्यादा हो। साथ में एक bitcoin mining software की भी ज़रूरत होगी। bitcoins के online transactions को confirm और verify करने के लिए Bitcoin miners अपने High processing speed वाले computer का इस्तेमाल करते हैं। Miners को Bitcoins के transactions को verify और confirm करने के लिए bitcoins Gift के तौर पर मिलते हैं।
  4. Miners bitcoins के इस पूरे netowrk के सुरक्षित बनाने का भी काम करते हैं। जिसके लिए उन्हें bitcoins मिलते हैं। पूरी दुनिया में कुल मिलाकर 21 मिलियन bitcoins ही बन सकते हैं उससे ज़्यादा नहीं। अबतक 13 मिलियन bitcoins बन चुके हैं। नए bitcoins भी mining के जरिये ही आएंगे।

Bitcoins इस्तेमाल करने के Advantages

  1. Bitcoins को आप दुनियाभर में कहीं से भी ख़रीद और बेच सकते हैं।
  2. bitcoins के इस्तेमाल से transactions के लिए कोई भी charge नहीं किया जाता है।
  3. Bitcoins miners और users के accounts block नहीं होते हैं।
  4. bitcoins के longterm investmenst और उसके इस्तेमाल से काफ़ी profit कमाया जा सकता है क्योंकि Bitcoins की क़ीमत रोज़ घटती बढ़ती रहती है।
  5. Bitcoins के transactions और उसके process पर किसी भी सरकार या बैंक का कंट्रोल नहीं होता, जिससे वे इस ओर नज़र नहीं रख पाती हैं।

Bitcoins के disadvantages

  1. क्योंकि bitcoins को कंट्रोल करने के लिये कोई goverment, bank या authority नहीं है इसलिए इसमें bitcoins की value कम या ज्यादा होती रहती है जिससे ये थोड़ा risky है।
  2. इसमें online transaction या mutual payments को खरीदने या बेचने या फ़िर इसकी mining करने में काफ़ी सतर्कता बरतनी पड़ती है। अगर आपका account hack हो गया तो आप अपना सारा का सारा bitcoins खो देंगे। जिसे आप फ़िर से रिकवर नहीं कर पायंगे।
  3. bitcoins की mining करने के लिए high performence computer का इस्तेमाल किया जाता जिसका processor बहुत तेज़ हो। इसकी mining करने में काफ़ी ज्यादा बिजली ख़र्च होती है।

Bitcoins कैसे ख़रीद सकते हैं?

Bitcoins को खरीदने के लिए आप ZebPay या फ़िर Unocoins पर उसके features के हिसाब से account बनाकर bitcoin खरीद या बेच सकते हैं।

Conclusion

जिस तरह से bitcoin ने पिछले साले से growth कि है, तो लोगो का धियान bitcoin कि तरफ गया है.
अभी अगर आने वाले कुछ महीनो में bitcoin फिर से growth करता है लोग फिर से इसमें Investment करना शुरू कर देंगे.

पर:

एक बात का धियान रखे कि Bitcoin में पैसे लगाना काफी रिस्की काम है.
कब bitcoin के पैसे लाखो से crore में या लाख से 0 हो जाये कोई कुछ नहीं कहे सकता है.
इसलिए उतने पैसे ही invest करे जिनको आप डूबा कर भी survive कर जाओ.

हमे लगता है कि आपको हमारी पोस्ट Bitcoin क्या है पसंद आई होगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

One Response

  1. thakur aman singh September 15, 2018

Leave a Reply

error: