BDO full form in Hindi – BDO के काम क्या है?

BDO Full form – Block Development Officer

दोस्तों आप सभी ने BDO के बारे में जरूर ही सुना होगा। लेकिन क्या आपके पास BDO से जुड़े इन सवालों के जवाब है? जैसे कि-
BDO कैसे बनें? BDO full form क्या होता है? BDO Exam कैसे होता है? आदि।

अगर आपके पास इन सभी सवालों के जवाब नहीं है तो आप बिल्कुल परेशान ना हो क्योंकि आज हम आपको BDO से जुड़ी सारी जानकारी देने वाले हैं।

इस क्रम में आइये सबसे पहले जानते हैं कि BDO का फुलफॉर्म क्या होता है?

BDO full form in Hindi

BDO full form in Hindi और BDO बनने की जानकारी।

BDO full form in Hindi

BDO फुलफॉर्म – Block Development Officer

BDO in Hindi – ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफ़िसर

BDO को हिन्दी में ‘खण्ड विकास अधिकारी’ भी कहा जाता है। एक BDO का काम किसी State के Block Level पर सरकारी कार्यों की देखभाल करना है। एक BDO का दायित्व ये है कि वो Block स्तर पर सभी विकास कार्यों पर नज़र रखें, तथा अपने Block के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए।

जैसा कि हम सभी जानते हैं प्रत्येक ज़िला कई तहसील में बँटा हुआ होता है और एक तहसील के अन्दर कई ब्लॉक भी होते हैं। इस तरह से सरकार द्वारा हर स्तर पर विकास कार्यों की समीक्षा के लिए एक अधिकारी नियुक्त किया जाता है। इसी प्रकार जो अधिकारी प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर विकास कार्यों की निगरानी के लिए नियुक्त होता है उसे ही BDO कहा जाता है।

हमनें BDO के बारे में ये तो जान लिया कि इसका फुलफॉर्म क्या होता है तथा BDO का क्या काम होता है। अब इसी क्रम में आइये ये भी जान लेतें हैं कि BDO कैसे बना जाता है?

BDO कैसे बने

दोस्तों BDO एक प्रदेश सरकार के आधीन की नौकरी है। अतः इसकी नियुक्ति भी State Government द्वारा की जाती है। State में जब नए BDO की आवश्यकता होती है तो Government द्वारा इसके लिए सबसे पहले विज्ञापन देकर आवेदन की माँग की जाती है।
अब अगर आप BDO के Post के लिए Eligible है तो आप इस Form को भर के इसके Exam को दे सकते हैं।

BDO के लिए Minimum Eligibility

BDO का Exam देने के लिए आपका किसी भी Subject से Graduate होना आवश्यक है। अतः अगर आप BDO बनना चाहते हैं तो सबसे पहले किसी Recognized University से अपना Graduation Complete कर लें। इसके बाद ही आप BDO बन सकते हैं।

Age Limit –

BDO का Exam देने के लिए आपकी उम्र 21 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। हालाँकि इसमें OBC तथा SC/ST Candidate को Reservation के अनुसार छूट भी दी गयी है।

BDO Exam Pattern 

प्रत्येक राज्य के लोक सेवा आयोग द्वारा BDO का Exam तीन चरणों में कराया जाता है। इसके लिए सबसे पहले होने वाली परीक्षा को इसकी प्रारंभिक परीक्षा कहा जाता है।

प्रारम्भिक परीक्षा –

BDO के प्रारंभिक परीक्षा 2 घन्टे की होती है। इस परीक्षा में Candidate को 2 पेपर देना होता है। ये दोनों ही पेपर 2-2 घण्टे के होते हैं। इसके पहले पेपर में Candidate से General Study के प्रश्न पूछे जाते हैं वही दूसरे Paper में Social Study के प्रश्न पूछे जाते हैं। पहले पेपर में 150 प्रश्न तथा दूसरे पेपर में 100 प्रश्न पूछे जाते हैं।

BDO की प्रारंभिक परीक्षा में सफ़ल Candidate को ही इसकी दूसरी परीक्षा यानी कि मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। इसे Mains Exam भी कहा जाता है।

  • Mains Exam – इस Mains Exam में Candidate से उनके द्वारा ही चुने गए Optional Subject के 4 पेपर होते हैं।इसके साथ ही अनिवार्य भाषा हिन्दी से भी प्रश्न पूछे जाते हैं। ये Exam पूरी तरह written होता है।
  • Interview – प्रारंभिक परीक्षा तथा लिखित परीक्षा में सफ़ल Candidate को इस परीक्षा के आख़िरी चरण यानी कि Interview के लिए बुलाया जाता है। BDO के Exam का ये आख़िरी चरण होता है अतः Personal Interview के आधार पर ही Final Candidate का चुनाव किया जाता है।

दोस्तों BDO का Exam काफ़ी Tough होता है। अतः अगर आप BDO बनना चाहते हैं तो आपको पूरी तैयारी के साथ ही इस Exam में बैठना चाहिए। सभी विषयों पर बेहतरीन Command तथा निरन्तर प्रयास से ही आप इसके Exam में सफ़ल हो सकते हैं।

ये भी जाने

BDO पोस्ट पर हमारी राय

यहाँ पर आपको ये भी बता दे कि जितना Tough BDO का Exam होता है उतना ही सम्मानजनक ये पद भी होता है। BDO ब्लॉक लेवल का एक सम्मानित अधिकारी होता है।

इस पोस्ट में हम ने जाना BDO क्या है, BDO के काम और BDO full Form in Hindi के बारे में।

Leave a Reply

error: