AM Full form in Hindi – AM का मतलब क्या है?

AM का full form Anti-Meridiem

फर्ज कीजिए आप ट्रेन से जयपुर जा रहे हैं। आप रेलवे का टाइम टेबल देखते हैं। ट्रेन का टाइम AM दर्शाया गया है तो आप समझ जाते हैं कि ट्रेन सुबह की है। अगर यह 9.00 PM लिखा होता है तो आप समझ लेते हैं कि बात रात की हो रही है। इसी तरह अगर दोपहर बाद तीन बजे कोई कार्यक्रम होता है तो उसके लिए 3.00 PM लिख दिया जाता है।

दरअसल, 12 घंटे की घड़ी में हमें ध्यान रखना होता है कि आखिर किस वक्त की बात हो रही है। मसलन, अगर कोई आपसे कहा रहा है कि 5.00 PM हो चुके हैं तो उसके कहने का अर्थ है कि दोपहर बाद 5 बजे हैं। 5.00 AM बताने की सूरत में आप समझ लेंगे कि सुबह के 5 बजे की बात हो रही है। AM दरअसल, पहर के संकेतक के रूप में काम करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह AM आया कहां से? आज हम आपको बताएंगे कि आखिर यह AM क्या है, इसकी अहमियत क्या है, समय और पहर बताने के लिए इसे क्यों प्रयोग किया जाता है.

AM Full form in Hindi

AM ka मतलब – Anti-Meridiem 

AM meaning in Hindi – एंटी मेरीडियम। इसका मतलब है दोपहर से पहले।

AM शब्द Anti-Meridiem यानी एंटी मेरीडियम से लिया गया है। इसका मतलब है दोपहर से पहले। यह एक लेटिन शब्‍द है। दरअसल आज ज्यादातर घड़ियां 12 घंटे की हैं। वे 24 घंटों को दिन में दो 12 घंटे की अवधि में विभाजित करती हैं। लिहाजा, आधी रात के बाद (0:00) और दोपहर (12:00) बजे तक AM होता है। सामान्यतः इसे A.M, a.m या am भी लिखा जाता है।

ये भी जाने – LMV NT का क्या मतलब है?

सूर्य, चंद्रमा, तारों की गति

प्रकृति का अपना एक कैलेंडर है। इसमें हर दिन दो चक्रों में बंटा है।  एक चक्र जो सूर्य (दिन) की स्थिति के जरिये दर्शाया जाता है, दूसरा चन्द्रमा और सितारों (रात)  की स्थिति के अधीन है। यह 12-12 घंटे की अवधि का होता है।

ये भी जाने –  CKWL का मतलब क्या है?

धूप घड़ी और पानी घड़ी

प्राचीन मिस्र में लोगों ने एक 12 घंटे की घड़ी का पता लगाया था। रोज़मर्रा के इस्तेमाल के लिए मिस्र के लोग एक धूपघड़ी और रात के लिए पानी की घड़ी का इस्तेमाल करते थे। इस तरह के अभिलेख एक मिश्र की प्राचीन कब्र में पाए गए। उन्होंने अपने दिन को 12 घंटों के हिसाब से विभाजित किया हुआ था।

इस पोस्ट पर हमारी राय

इन दिनों बात घड़ी की करें तो उसका काम मोबाइल फोन करने लगा है। आप आसानी से उसमें समय देख सकते हैं। सेटिंग में जाकर घड़ी को 12 या 24 घंटे के हिसाब से सेट कर सकते हैं।

कंप्यूटर हो या लैपटाप इसमें भी घड़ी को अपने हिसाब से सेट किया जा सकता है। यूं चलन रिस्ट वाच पर घड़ी का अब बेहद कम है। अब केवल वही लोग घड़ी का इस्तेमाल करते हैं, जिन्हें घड़ी का शौक है। वह लेटेस्ट ट्रेंड के आधार पर घड़ी का चुनाव करते हैं। घड़ी चेन की हो या पट् टे की, यह भी खरीदने वाले की पसंद पर निर्भर है। लिमिटेड एडिशन घड़ियां भी कई कंपनियां निकालती हैं, जिन्हें खरीददार अपने शौक के हिसाब से खरीदते हैं।

ये भी जाने – आखिर RSVP होता क्या है?

हमे comment में बताए की आपको हमारी post full form of am in Hindi कैसी लगी.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

error: